कश्मीर में तनाव के 100 दिन हुए पूरे

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-10-16 19:27:42
कश्मीर में तनाव के 100 दिन हुए पूरे

श्रीनगर। आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद कश्मीर घाटी में पैदा हुए हालातों का रविवार को 100वां दिन हैं। 8 जुलाई को कश्मीर में पैदा हुई तनाव की स्थिति में अब तक 84 लोगों की मौत हो चुकी हैं, जबकि सैकड़ों की संख्या में लोग घायल हैं।

मौजूदा आंदोलन का नेतृत्व कर रहे अलगाववादियों की ओर से बुलाई गई हड़ताल के कारण पिछले 100 दिनों से घाटी में बंद की स्थिति है, हालांकि प्रशासन की ओर से बीच-बीच लोगों की सुविधाओं के लिए राहत दी जा रही है।

100 दिनों से बंद होने के कारण घाटी में जन-जीवन बेहाल है। बंद का सबसे ज्यादा असर बच्चों की पढ़ाई पर हुआ है,क्योंकि पिछले 100 दिनों में घाटी में स्कूल, कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थानों पर ताले लगे हुए हैं।

एक पुलिस अधिकारी का कहना है कि कश्मीर में रविवार को कर्फ्यू तो कहीं नहीं है, लेकिन कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए इलाके में धारा 144 लागू है।

उन्होंने कहा कि स्थिति में सुधार आ रहा है क्योंकि लोग हुर्रियत के बुलाए बंद को नकार रहे हैं और अपने दैनिक कार्यों के लिए बाहर आ रहे हैं। अधिकारी ने कहा कि सिविल लाइंस और शहर के बाहरी इलाके में कई दुकानें खुलीं है।

उन्होंने कहा कि कानून और व्यवस्था को बनाए रखने के लिए और लोगों में सुरक्षा की भावना पैदा करने के लिए संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। गौरतलब है कि घाटी में हालातों में सुधार के मद्देनजर शुक्रवार को प्रीपेड मोबाइल फोन सेवा बहाल कर दी गई है, लेकिन इंटरनेट सेवा पर अब भी रोक लगी हुई है।


अन्य राज्य पर शीर्ष समाचार