अघोषित राशि जमा करने पर लगेगा 50 प्रतिशत कर, 4 साल की रोक

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-11-26 11:44:31
 अघोषित राशि जमा करने पर लगेगा 50 प्रतिशत कर, 4 साल की रोक

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद 30 दिसंबर तक बैंकों में जमा कराई जाने वाली अघोषित राशि पर न्यूनतम 50 फीसदी टैक्स लग सकता है। इसके अलावा शेष राशि के आधे हिस्से के निकासी पर चार साल की पाबंदी होगी।

रिपोर्ट के मुताबिक मंत्रिमंडल ने शुक्रवार रात आयकर कानून में संशोधन को मंजूरी दी गई है, जिसके तहत पुराने 500 और 1,000 रुपए के नोट निर्धारित सीमा से अधिक जमा करने के बारे में अगर आयकर अधिकारियों के समक्ष घोषणा की जाती है, तो उस पर 50 प्रतिशत कर लग सकता है।

यह भी पढ़ें- नोटबंदी के बाद सोने पर होगी अगली सर्जिकल स्ट्राइक

सूत्रों के अनुसार शेष राशि का आधा हिस्सा या मूल जमा का 25 प्रतिशत को चार साल तक निकालने की अनुमति नहीं होगी। बताया जा रहा है कि अगर इस प्रकार के जमा के बारे में घोषणा नहीं की जाती है और उसका पता कर अधिकारियों को चलता है तो कुल 90 प्रतिशत कर और जुर्माना लगाया जाएगा।

सूत्रों के मुताबिक केवल दो सप्ताह में खासकर शून्य खाते वाले जनधन खातों में 21,000 करोड़ रुपए से अधिक जमा हुए हैं। इससे इन खातों को काले धन के सफेद करने में उपयोग को लेकर आशंका बढ़ी है।

गौरतलब है कर अधिकारियों ने 10 नवंबर से 30 दिसंबर के बीच 2.5 लाख रुपए से अधिक बेहिसाब जमा पर कर और उस पर 200 प्रतिशत जुर्माना लगाने की बात की थी, बाद में यह महसूस किया गया कि इस प्रकार की बातों के पीछे कोई कानूनी आधार नहीं है, इसलिए इस खामी को दूर करने के लिए मंत्रिमंडल ने शुक्रवार को आयकर कानून में संशोधन को मंजूरी दी गई।

 


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार