राज्यरानी एक्सप्रेस 8 डिब्बे पटरी से उतरे, 15 घायल,योगी ने किया मुआवजे का ऐलान

Edited by: Shiwani_Singh Updated: 15 Apr 2017 | 09:09 AM
detail image

रामपुर। मेरठ से लखनऊ जा रही राज्यरानी एक्सप्रेस (22454) के आठ डिब्बे शनिवार को पटरी से उतर गए। यह ट्रेन हादसा सुबह 8 बजे रामपुर में कोसी पुल के पास हुआ। यह ट्रेन मेरठ से लखनऊ जा रही थी। हादसे में 15 लोग घायल हैं। रेलवे मिनिस्टर सुरेश प्रभु ने हादसे की जांच के आदेश दिए हैं। सूत्रों के हवाले से ख़बरें आ रही हैं कि रेल हादसे की जांच एटीएस करेगी। एटीएस की टीम मौके पर पहुंच गई है। एटीएस ट्रेन दुर्घटना में साजिश की पहलुओं की जांच करेगी।

सुरेश प्रभु ने किया ट्वीट
रेलवे मिनिस्टर सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर कहा है कि मैं खुद हालात पर नजर रख रहा हूं। सीनियर अफसरों को मौके पर जाने के आदेश दिए गए हैं। घायल लोगों को तुरंत मदद के भी इंस्ट्रक्शन दिए गए हैं। हादसे की जांच के आदेश दिए गए हैं, लापरवाही पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

रेलवे द्वारा हेल्पलाइन भी जारी किए गए हैं
हेल्पलाइन नंबर- 22454
बरेली- 0581-2558161, 0581-2558162
हापुर - 0122-2305326

घायलों को मुआवजा

वहीं, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे में यात्रियों के घायल होने पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने गंभीर रूप से घायल यात्रियों को 50 हजार रुपये और मामूली घायलों को 25 हजार रुपये की आर्थिक सहायता की घोषणा करते हुए सिंचाई राज्य मंत्री महेंद्र औलख को घायलों को ये मदद मौके पर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

उत्तरी रेलवे के CPRO नीरज शर्मा ने कहा है कि हादसे के बाद बचाव ट्रेन का इंतजाम कर लिया गया है। CPRO के मुताबिक इस हादसे में कोई भी यात्री गंभीर रूप से घायल नहीं हुआ है।

 

मेरठ से हुई थी रवाना

मेरठ से राज्यरानी सुबह करीब 5 बजे रवाना हुई थी। रामपुर से करीब 4 किमी पहले अचानक ट्रेन में झटके लगे और डिब्बे पटरी से उतरकर पलट गए। एसपी रामपुर केशव कुमार चौधरी ने बताया कि 8 डिब्बे पटरी से उतरे हैं। गंभीर रूप से घायल लोगों को डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर दलजीत चौधरी ने बताया कि एनडीआरएफ को इन्फॉर्म किया गया है। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। ट्रेन में अब कोई शख्स फंसा नहीं है। स्थ‍िति कंट्रोल में है।

बता दें कि यह ट्रेन मेरठ से सुबह 4.55 पर रवाना होती है, जो हापुड़, अमरोहा, मुरादाबाद, रामपुर, बरेली, शाहजहांपुर, हरदोई होते हुए दोपहर 1:10 पर लखनऊ पहुंचती है।

पहले ही झटके से अनहोनी की आशंका थी
ट्रेन में सवार सरदार यात्री ने बताया कि कि सब कुछ एक झटके में हुआ। ट्रेन में सब अपनी सीटों पर बैठे आराम से सफर कर रहे थे। रामपुर आने वाला था, अचानक 34 झटके लगे और ट्रेन में सवार लोग एक दूसरे के ऊपर गिरने लगे। झटका इतना तेज था कि पहले ही झटके से किसी अनहोनी की आशंका हो गई थी।