मुठभेड़ के दौरान पुलिस की गोली लगने से 8 साल के बच्चे की मौत

Edited by: Web_team Updated: 19 Jan 2018 | 12:19 AM
detail image

मथुरा। उत्तर प्रदेश में पुलिस की एक बार फिर बड़ी लापरवाही सामने आई है। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के मथुरा का है। यंहा, ताबड़तोड़ एनकाउंटर की जल्दबाजी में पुलिस की गोली से एक 8 साल के मासूम बच्चे की मौत हो गई।

बता दें कि मथुरा के मोहनपुरा-अड़ूकी गांव में पुलिस को बदमाशों के छुपे होने की खबर मिली थी। पुलिस ने बदमाशों का पीछा किया तो बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग शुरु कर दी। इसी दौरान जवाबी कारर्वाई में पुलिस ने भी बदमाशों पर फायरिंग की, लेकिन गोली बदमाशों के बजाए वहां खेल रहे 8 साल के मासूम बच्चे को लग गई।

इस मामले में सिर्फ पुलिस की लापरवाही सामने नहीं आई है, बल्कि पुलिस की संवेदनहीनता भी उजागर हुई है। परिजनों का आरोप है कि पुलिस बच्चे को अस्पताल ले जाने के बजाए घायल अवस्था में उसे वहीं छोड़कर भाग खड़ी हुई। साथ ही उनका कहना है कि कहीं बदमाश नहीं थे, पुलिसवालों ने बदमाश होने के अंदेशे में गोली चलाई थी।

वहीं, एसएसपी स्वप्निल ममगाई ने कहा, "हमें परिजनों द्वारा लिखित तहरीर प्राप्त हो गई है, जिसके आधार पर मुकदमा लिखा जा रहा है। साथ ही अगर इसमें पुलिस की लापरवाही सामने आती है तो उन पर कारर्वाई की जाएगी।"

फिलहाल, इस मामले पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद संज्ञान लिया है और 5 लाख रुपए की राहत राशि का ऐलान भी किया है। साथ ही घटना की जांच के लिए एक कमेटी बनाने की भी बात कही है।