59 साल बाद इस दिवाली पर बन रहा महासंयोग

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-10-29 20:27:28
59 साल बाद इस दिवाली पर बन रहा महासंयोग

नई दिल्ली। इस बार दिवाली पर 59 सालों बाद महासंयोग बन रहा है। आचार्यों की मानें तो करीब 59 सालों बाद शुक्र, शनि और गुरु का दृष्टि संयोग बन रहा है, जो कई राशियों पर अच्छा असर डालने वाला है।

रविवार को दिवाली मनाई जाएगी। हालांकि अमावस्या तिथि शनिवार को ही रात में 07 बजकर 52 मिनट से लग गई है, जो रविवार की रात में 09 बजकर 44 मिनट तक रहेगी। उदया तिथि के अनुसार अमावस्या का मान सूर्योदय से ही मिल रहा है। साथ ही प्रदोष काल का बहुत ही उत्तम योग मिल रहा है।

इस बार दिवाली के दिन उद्योग-धंधों के साथ-साथ नए कार्य करने एवं पुराने व्यापार में खाता पूजन का विशेष विधान है। इसके अलावा इस दिन चित्रा नक्षत्र सूर्योदय से दिन में नौ बजकर 02 मिनट तक रहेगा, उसके बाद स्वाति नक्षत्र लग जायेगा।

साथ ही सूर्योदय से रात 10:41 तक प्रीति योग और पदम योग व्याप्त रहेगा जो एक अति उत्तम संयोग है। रिविलगंज के पं मानवेंद्र त्रिपाठी उर्फ चुन्नू बाबा के अनुसार धर्मशास्त्रों के अनुसार दीपावली 'प्रदोष काल एवं महानिशीथ काल व्यापिनी अमावस्या में है, जिसमें प्रदोष काल का महत्व गृहस्थों एवं व्यापारियों के लिए महत्वपूर्ण होता है और महानिशीथ काल का तांत्रिकों के लिए उपयुक्त होता है। लेकिन इस साल अमावस्या व्यापिनी महानिशीथ काल का अभाव है। वैसे महानिशीथ काल की पूजा मध्यरात्रि 12:40 से 2:00 बजे के मध्य की जा सकती है।