इटावा में अखिलेश ने कर दी शिवपाल को हराने की अपील!

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2017-02-17 05:15:44
 इटावा में अखिलेश ने कर दी शिवपाल को हराने की अपील!

नई दिल्ली। इस बार यूपी के चुनाव में एक और दिलचस्प लड़ाई देखने को मिल रही है जो एक ही परिवार के बीच चल रही है। अखिलेश यादव अपने चाचा शिवपाल यादव पर भी खूब बरस रहे हैं जो उन्हीं की पार्टी से उम्मीदवार भी हैं।

लेकिन बात तो यहां तक पहुंच गई कि अखिलेश ने बिना नाम लिए शिवपाल को हराने की अपील भी की। अखिलेश के बयान पर शिवपाल यादव की भी प्रतिक्रिया आ गई है। शिवपाल ने कहा, सब ठीक है, मैं सिर्फ अपने चुनाव पर ध्यान दे रहा हूं।

यह भी पढ़ें- झगड़े में हुई ऐसी साजिश कि भैया के पास रह जाए सिर्फ चाबी और भाभी: डिंपल

चुनाव प्रचार के सिलसिले में अखिलेश जब इटावा पहुंचे तो घर के झगड़े की चर्चा छेड़ दी। अखिलेश बोल रही रहे थे कि रामगोपाल उनके पास पहुंचे और कान में कुछ कहा, क्या कहा ये पता नहीं लेकिन इसके बाद तो अखिलेश ने शिवपाल पर आरोपों की बौछार कर दी।

अखिलेश ने कहा, हमने लोगों पर ज्यादा ही भरोसा कर लिया। जिन पर भरोसा किया उन्होंने हमें और नेता जी को ही लड़ा दिया। मैंने कभी साइकिल को हराने की बात नहीं की लेकिन सुना है इटावा में कहीं कहीं मोबाइल से लोगों को बुलाकर साइकिल हराने की बात कही जा रही है। हमने सुना है कि यहां पर एक नई पार्टी भी बनने जा रही है।

यह भी पढ़ें- गायत्री प्रजापति के खिलाफ दर्ज हो गैंगरेप का FIR: सुप्रीम कोर्ट

अखिलेश ने कहा कि आरोप तो हम पर लगता था कि हम नई पार्टी बनाने जा रहे हैं। कौन समझाए कि नई पार्टी बनाने से कुछ नहीं होता। अखिलेश ने कहा,ऐसे लोग जिन्होंने नेता जी और हमारे बीच खाई पैदा की है इटावा को लोगों उन्हें सबक सिखाने का काम करना।

वहीं, सांसद नरेश अग्रवाल ने तो बिना नाम लिए शिवपाल की तुलना कूड़े से कर दी और कह दिया कि कूड़े की जगह डस्टबीन में होती है। नरेश अग्रवाल ने कहा, ”पतझड़ हर साल आता है, पुराने पत्ते झड़ जाते हैं और नए पत्ते आ जाते हैं। पतझड़ के झड़े पत्तों पर ज्यादा बात नहीं की जाती उन्हें झाड़ू से साफ करके कूड़ेदान में डाल दिया जाता है।

यह भी पढ़ें- मेरी ईमानदारी है कि मैं हिसाब-किताब नहीं मांग रहा हूं: अखिलेश

आपको बता दें कि परिवार के इस झगड़े में शिवपाल अब अकेले पड़ गए हैं लेकिन मुलायम ने साथ नहीं छोड़ा है, मुलायम खुद शिवपाल के लिए प्रचार करने जसवंतनगर गए थे जहां से शिवपाल उम्मीदवार हैं।


उत्तर प्रदेश पर शीर्ष समाचार