अनुपमा हत्याकांड: पत्नी के 72 टुकड़ें करने वाले राजेश गुलाटी को हुई उम्रकैद

Edited by: PoojaDevi Updated: 01 Sep 2017 | 04:07 PM
detail image

देहरादून। चर्चित अनुपमा हत्याकांड मामले में डीजी पंचम विनोद कुमार की अदालत ने दोषी ठहराए गए राजेश गुलाटी को उम्रकैद की सजा सुनाई है। जबकि सरकारी पक्ष के वकील ने इस मामले को जघन्यतम से भी ज्यादा क्रूर मानते हुए फांसी की सजा की मांग की।

इसके पहले दोनों पक्षों ने सजा के मामले पर लंबी बहस की। बचाव पक्ष की तरफ से आजीवन कारावास की मांग की गई। जबकि सरकारी पक्ष के वकील ने बहस के दौरान कहा कि ये मामला क्रूर से भी ज्यादा क्रूर है। इसलिए दोषी पाए गए राजेश को कड़ी से कड़ी सजी मिलनी चाहिए।

यह भी पढ़ें-श्रीनगर: मेडिकल कॉलेज में MBBS के छात्र से हुई रैगिंग

बता दें कि 7 साल पहले 12 दिसंबर 2010 को पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर राजेश गुलाटी ने पत्नी अनुपमा गुलाटी की हत्या कर दी थी। हत्या करने के बाद उसने इलैक्ट्रिक आरी से शव के 72 टुकड़ें किए और उन्हें डीप फ्रीजर में रख दिए। उसके बाद एक एक करके इन्हें जंगल में फेंकता रहा।

इतना ही नहीं जब राजेश के बच्चे उससे मां के बारे मं पूछते तो वो उनसे नाना-नानी के घर जाने के बारे में बोल देता था, लेकिन जब अनुपमा के घरवालों की अनुपमा से कई दिनों तक बात नहीं हुई तब उसका भाई राजेश के घर पहुंचा और ये पूरा मामला खुला।