आजम खां के विकल्प के रूप में उभरे आशु मलिक

Edited by: Editor Updated: 24 Oct 2016 | 06:00 PM
detail image

लखनऊ। आशु मलिक समाजवादी पार्टी में एक नए मुस्लिम चेहरे के तौर पर उभर रहे हैं। पार्टी में उन्हें आजम खां के विकल्प के तौर पर देखा जा रहा है। अब तक आजम खां को ही पार्टी का मुस्लिम चेहरा माना जाता था।

बीते कुछ दिनों में जिस तरह से पश्चिमी यूपी में मुस्लिम समुदाय के मसलों पर आशु मलिक सामने आए हैं उससे साफ जाहिर है कि पार्टी उन्हें मुस्लिम चेहरे के तौर पर प्रोजेक्ट करने की तैयारी में है। दादरी कांड में मारे गए अखलाक को लेकर राजधानी स्थित सीएम आवास पर सपा एमएलसी आशु मलिक का पहुंचना संयोग मात्र नहीं है।

आपको बता दें कि हाशिमपुरा कांड के पीड़ितों को जब आजम खान न्याय दिलाने के लिए धरना देने का सुझाव दे रहे थे तो आशु मलिक ने ही मोर्चा संभाला और पीड़ितों को ले जाकर सीएम से मिलवाया। उन्हें 5-5 लाख का मुआवजा दिलवाया।

मेट्रो का वर्किंग मॉडल बनाने वाले शामली के अब्दुल शमद को भी सीएम तक पहुंचाने वाले आशु ही थे। गाजियाबाद में हज हाउस के उद्घाटन के बाद आजम के खिलाफ आशु ने मोर्चा भी खोला था।

इन सब बातों से इतना तो साफ है कि आशु मलिक युवा हैं और मुस्लिम समाज में उनकी पैठ भी काफी अच्छी है। शायद यही वजह है कि आशु मलिक आजम खां की आखों में खटक रहे हैं।