Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

चैनलों को रेटिंग देने वाली संस्था BARC ने इंडिया न्यूज़ को किया रेटिंग से बाहर

Edited By: Editor
Updated On : 2016-11-26 13:33:14
चैनलों को रेटिंग देने वाली संस्था BARC ने इंडिया न्यूज़ को किया रेटिंग से बाहर
चैनलों को रेटिंग देने वाली संस्था BARC ने इंडिया न्यूज़ को किया रेटिंग से बाहर

नई दिल्ली। दीपक चौरसिया के नेतृत्व में हिंदी समाचार चैनल इंडिया न्यूज़ लगातार प्रगतिपथ पर अग्रसर था और उसकी टीआरपी लगातार बढ़ रही थी। दीपक चौरसिया और राणा यशवंत जैसों दिग्गजों की अथक मेहनत रंग ला रही थी। लेकिन समाचार चैनलों की दुनिया में तब खलबली मच गयी जब रेटिंग में इंडिया न्यूज़ नंबर-2 तक जा पहुंचा था।

बता दें कि दूसरे चैनलों के संपादकों के अलावा आंकड़ों में दिलचस्पी रखने वाले दर्शक भी हैरान-परेशान थे कि ऐसा कैसे हो गया या इंडिया न्यूज़ ने अचानक से ऐसा क्या दिखा दिया कि टीआरपी में उसने इतनी लंबी छलांग लगा दी?

यह भी पढ़ें- मुंबई में हुए 26/11 आतंकी हमले की आज 8वीं बरसी

लेकिन अब इस संदेह को सही ठहराते हुए चैनलों को रेटिंग देने वाली संस्था ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल ऑफ इंडिया(बार्क) ने इंडिया न्यूज़ पर रेटिंग मीटरों पर छेड़खानी का आरोप लगाते हुए उसे एक पूरे एक महीने के लिए रेटिंग से बाहर कर दिया है और इस बाबत अपने उपभोक्ताओं को मेल कर सूचना भी दी है।

बार्क की इस कार्रवाई से इंडिया न्यूज़ की कॉरपोरेट इमेज को गहरा धक्का लगा है और आने वाले वक्त में उसका सीधा असर चैनल को मिलने वाले विज्ञापनों पर दिख सकता है। इंडिया न्यूज़ के अलावा तेलगु न्यूज़ चैनल टीवी9 और वी6 पर यही आरोप लगाकर उन्हें भी एक महीने के लिए सस्पेंड किया गया है।

यह भी पढ़ें- अघोषित राशि जमा करने पर लगेगा 50 प्रतिशत कर, 4 साल की रोक

आपको बता दें कि इसकी वजह से ये तीनों चैनल 46 से 49 वें हफ्ते के बीच रेटिंग प्रक्रिया से बाहर हो जाएंगे और विज्ञापन बचाने के लिए इन चैनलों के मार्केटिंग टीम को एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ेगा।

हालांकि टीवी 9 तो तेलगु चैनलों का लीडर है इसलिए उसके लिए ज्यादा मुश्किल नहीं होगी। असल मुसीबत इंडिया न्यूज़ के लिए होगी।बार्क का कहना है कि इन चैनलों ने रेटिंग मीटर वालों घरों में उनका चैनल देखने के लिए अपने प्रभाव का इस्तेमाल किया और कुछ जगह पैसों का लालच भी दिया।

यह भी पढ़ें- क्या पीओके भारत के बाप का है जो वो इस पर दावा करता हैः फारुक अब्दुल्ला

गौरतलब है कि ऐसे ही आरोपों की वजह से TAM की रेटिंग को बंद करके BARC शुरू किया गया था लेकिन लगता है घपलेबाजी का जुगाड़ यहाँ भी निकल ही आया जिसका प्रमाण इन तीन चैनलों ने दिया है।


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार


x