आधारभूत सुविधाओं को भी तरस रहे हैं मुंख्यमत्री आदर्श गांव

Edited by: Editor Updated: 27 Nov 2016 | 04:30 PM
detail image

टिहरी। मुंख्यमत्री आदर्श गांवों के विकास का सपना सरकारी फाइलों तक ही रह गया है। जनपद में मुख्यंमत्री आदर्श गांवो के तहत 9 गांवो को चयनित किया गया था, लेकिन यह गांव अभी भी कई समस्याओं से जूझ रहें हैं।

यह भी पढ़ें- 1052 विश्व धरोहर में से 55 विनाश के कगार पर: रिपोर्ट

रिपोर्ट के मुताबिक जब चब्बा ब्लॉक के गांव पुरूसोल गांव की समस्या को देखा गया तो यहां लोग पीने के पानी के लिए भी तरस रहे थे। बता दें कि ना तो यहां शौचालय बनाए गए और जो बनाए गए थे वह भी आधा अधूरे। बच्चों के लिए बनाए गए स्कूल भी बहुत दूर-दूर हैं।

गौरतलब है गांवो में सभी सुविधाओं को अब तक जोड़ दिया जाना चाहिए था, लेकिन अधिकारी कई बार इन गांवो का भ्रमण कर चुके लेकिन आज भी ये गांव विकास की राह देख रहे है।