Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

रंगों से यूं कर सकते हैं बालों और त्वचा की सुरक्षा

Edited By: Hindi Khabar
Updated On : 2017-03-11 18:24:49
रंगों से यूं कर सकते हैं बालों और त्वचा की सुरक्षा
रंगों से यूं कर सकते हैं बालों और त्वचा की सुरक्षा

नई दिल्ली। होली खेलना आमतौर पर सभी को अच्छा भी लगता है, लेकिन इसके बाद शरीर से रंगों को उतारने के लिए जो कसरत करनी पड़ती है, वो आंखों में आंसू ज़रूर ला देती है।
दरअसल, आजकल के रंगों में कैमिकल मिले होते हैं, जो स्किन के लिए काफी नुकसानदायक होते हैं। ऐसे में अगर कुछ बातों का ध्यािन न रखा जाए, तो यह रंग आपके लिए मुसीबत का सबसे बन सकते है। आइए जानते हैं, रंग और उमंग का यह त्योजहार कैसे आपकी खुशी को दोगुना कर सकता है।

यह भी पढें-लीवर और आंतों के लिए बेहद खतरनाक हो सकती है पत्ता गोभी

अगर आप घर पर ही रंग बनाना चाहते हैं तो आपको कुछ पौधों की ज़रूरत होगी। हरा रंग बनाने के लिए मेहंदी के पत्तों को सुखाकर पावडर बना लें। हल्दी और बेसन को मिलाकर भी एक अच्छा रंग बनाया जा सकता है। वहीं, गेंदे के फूलों को भी सुखाकर पेस्टा बनाकर प्रयोग किया जा सकता है। 

लाल चंदन का पावडर लाल रंग के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। गुलाब की पंखुड़ियों भी एक अच्छा विकल्प है। लाल गुड़हल के फूलों को रातभर पानी में भिगोकर रंग दें, सुबह इसे पीसकर लाल रंग के रूप में इस्ते माल कर सकते हैं।

रंग लगने के बाद अगर स्किन के किसी हिस्सेप पर जलन होने लगे तो सबसे पहले इसे ठंडे पानी से धोएं। इसके बाद इसपर मॉइश्चसराइजर लगाएं।ऐसे लोग जिन्हें एक्जिमा या एटॉपिक डर्मेटाइटिस की शिकायत है, उन्हेंस रंगों से एलर्जी हो सकती है। ऐसे में होली से पहले ही अपने डॉक्टकर से सलाह ज़रूर ले लें। चेहरे के संवेदनशील हिस्सोंं पर रंग लगाने से बचें।

होली के रंगों में मौजूद केमिकल बालों के लिए सबसे ज़् यादा नुकसानदायक होते हैं। होली खेलते समय बालों में काफी रंग जम जाता है। ऐसे में इसे उतारने के लिए और इसके दुष्प्रयभाव से बचने के लिए जेल या तेल का इस्तेामाल करें। बालों को माइल्ड शैम्पू् से धो लें।होली खेलने से पहले तेल से बालों की अच्छीय तरह मसाज कर लें। इससे रंग बालों पर चढ़ेगा नही।

यह भी पढें-कसूरी मेथी खाने के ये हैं 5 बड़े फायदे
त्वेचा से सभी रंगों को निकालना सबसे महत्वगपूर्ण पहलू है। चेहरे से गुलाल को हटाने के लिए साबुन को त्वचा पर सख्तीे से रगड़ें नहीं। इसकी जगह क्लींजर का इस्तेहमाल करें। कॉटन पर मॉइश्च राइज़र लगाकर इसे हाथों और पैरों पर मलें। कोल्डइ क्रीम और मॉइश्चैराइज़र का इस्ते माल स्किन को ड्राई होने से बचाता है। बेसन में नीबू का रस मिलाकर भी रंगों को छुड़ाया जा सकता है। नारियल के तेल या दही से भी स्किन को साफ कर सकते हैं।


जीवनशैली पर शीर्ष समाचार


x