बिना चश्मे के देख सकेंगे 3D वीडियो

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-11-09 19:15:44
बिना चश्मे के देख सकेंगे 3D वीडियो

नई दिल्ली। 3D वीडियों देखने वालों के लिए एक अच्छी खबर है। जल्द ही आप बगैर किसी विशेष आईवेयर के अपने स्मार्टफोन पर 3D वीडियो देख पाएंगे। वैज्ञानिकों ने एक ऐसी तकनीक विकसित की है जिससे 2D और 3D फोटो और वीडियो देखे जा सकते हैं।

बगैर चश्मे के 3D वीडियो देखने के लिए स्क्रीन के पीछे इमेज के पिक्सल और ऑप्टिक्स को स्टीरियोस्कोपिक इफेक्ट बनाने के लिए एक ही लेयर में रखा जाता है। दृष्टिभ्रम के इस इफेक्ट को दो आधारभूत तरीकों से तैयार किया जा सकता है। इसके लिए इमेज के सामने उसके एंगल के हिसाब से अपियरेंस के लिए माइक्रो लेंसेस जिन्हें लेंटिक्युर लेंस भी कहते हैं, को एक क्रम में रखकर या माइक्रो-फिल्टर्स जिन्हें पैरालैक्स बैरियर कहते हैं, को लगाया जाता है।

इसका सबसे आसान उदाहरण हमें मूवी पोस्टर में देखने को मिलता है जो आपको ऐंगल के हिसाब से बदलते दिखाई देते हैं। इसमें दो या इससे ज्यादा इमेजेस को बंधे हुए खांचे में बने प्लास्टिक लेयर के पीछे लगाया जाता है। 2D और 3D दोनों इमेज के लिए कन्वर्टिबल स्क्रीन के मामले में इन लेयर्स को ऐक्टिव रखा जाता है ताकि यह ऑन और ऑफ हो सकें।

दक्षिण कोरिया की सोल नैशनल यूनिवर्सिटी के प्रफेसर सिन-डू-ली और उनके सहयोगियों ने एक मोनोलिथिक स्ट्रक्चर बनाया है जिसमें एक ही पैनल में ऐक्टिव पैरालैक्स बैरियर, पोलराइजिंग शीट और एक इमेज लेयर लगाया गया है। दो अलग इमेज और बैरियर पैनल की जगह उन्होंने इमेज लेयर के सीधे कॉन्टैक्ट पोलराइजिंग इंटरलेयर का इस्तेमाल किया है जबकि इसके दूसरी तरफ पैरालैक्स बैरियर की लिक्विड क्रिस्टल लेयर का इस्तेमाल किया गया है।

इससे छोटे स्क्रीन पर नजदीक से देखने पर इमेज में 3D इफैक्ट दिखाई देता है। ली ने कहा, 'हमारी तकनीक से उन कंपनियों को बहुत फायदा होगा जो मोबाइल ऐप्लिकेशन के लिए लाइट वेट 2D-3D कन्वर्टिबल स्क्रीन बनाते हैं। यह कॉन्सेप्ट LC बेस्ड डिस्प्ले के साथ-साथ OLED डिस्प्ले में भी प्रयोग किया जा सकता है।'


मनोरंजन पर शीर्ष समाचार