करेंसी बंदी पर वित्त मंत्रालय का बयान, हालात सामान्य होने में लगेंगे 15 दिन

Edited by: Editor Updated: 12 Nov 2016 | 10:10 AM
detail image

नई दिल्ली। पूरे देश में नए नोट ही नहीं, पुराने सौ के नोट के लिए दूसरे दिन भी अफरा-तफरी मची रही। नए नोट बैंकों व एटीएम तक पहुंचाने की रिजर्व बैंक की सारी तैयारियां अधूरी साबित हुईं। एटीएम के जरिए नकदी बांटने का सारा प्रबंध असफल हो गया है। नए नोट फिलहाल एटीएम के अनुकूल नहीं हैं। वित्त मंत्रालय ने कहा कि हालात सामान्य होने में 15 दिन लगेंगे।

ऐसे में कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों ने सरकार पर हमला तेज कर दिया है। गौरतलब है कि शुक्रवार शाम केंद्र सरकार ने 500 व 1000 के पुराने नोट चुनिंदा आवश्यक सेवाओं के लिए 72 घंटे और मान्य कर दिए हैं।

पेट्रोल पंप, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, एयरपोर्ट, सरकारी अस्पताल, मेडिकल स्टोर्स आदि में ये 14 नवंबर की रात 12 बजे तक चल सकेंगे। नेशनल हाईवे भी 14 नवंबर तक टोल फ्री कर दिए गए हैं।

बैंकों में जहां गुरुवार से नोट बदलने, जमा करने व निकालने की नई अस्थायी व्यवस्था शुरू हो चुकी है, बैंको में नोट बदलवाने के लिए भारी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं। वहीं, शुक्रवार से शुरू होने वाले एटीएम पूरी तरह चालू नहीं हो पाए। इससे सारी व्यवस्था औंधे मुंह गिर गई। दोपहर तक देश के सिर्फ 10 फीसदी एटीएम तक ही नकदी पहुंच पाई और वह भी पुराने 100 के नोट। हालात ये है कि लोगों को जरूरत का सामान खरीदने के लिए पैसे मांगने पड़ रहे हैं।