Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

बैसाखी की धूमः देश भर में मनाया जा रहा है त्योहार

Edited By: Hindi Khabar
Updated On : 2017-04-13 13:54:45
बैसाखी की धूमः देश भर में मनाया जा रहा है त्योहार

नई दिल्ली। आज पूरे देश में बैसाखी का त्योहार उत्साह और उल्लास के साथ मनाया जा रहा है। यह फसलों और उमंगो का त्योहार माना जाता है। भारतीय संस्कृति के अनुसार, यह त्योहार ग्रह-नक्षत्रों, वातावरण, ऐतिहासिक महत्व और खेती से जुड़ा हुआ है।

माना जाता है कि बैसाखी के समय आकाश में विशाखा नक्षत्र होने के कारण इस माह को बैसाखी कहते है। वैसे इस बार बैसाखी 13 अप्रैल को है, लेकिन कभी-कभी यह 14 तारीख को भी पड़ती है। कहा जाता है कि बैसाखी एक तरह से गर्मी की शुरुआत है। सूर्य की गर्म किरणों से रबी की फसल पक जाती है तो वहीं खरीफ फसलों का मौसम शुरु हो जाता है।

ऐसी मान्यता है कि सिखों के 10वें गुरु गोबिन्द सिंह ने बैसाखी के दिन ही आनंदपुर साहिब में साल 1699 में खालसा पंथ की नींव रखी थी। खालसा शब्द का अर्थ शुद्ध और पावन होता है। इसी वजह से बैसाखी का त्योहार सूर्य की तिथि के अनुसार ही मनाया जाता है।

बैसाखी के दिन से ही पंजाब में गेहूं की कटाई शुरु हो जाती है। किसानों के लिए गेहूं का बहुत महत्व होता है। इस दिन कई जगहों पर लंगर भी लगाया जाता है। इसके साथ ही लोग ढोल नगाड़े की धुनों पर झूमते और नाचते भी है।

इस पर्व पर लोग मक्के की रोटी और सरसों के साग के साथ लस्सी पीते है। साथ ही छोले भटूरे, दाल मखनी के साथ तंदूरी रोटी का स्वाद लेते है। बैसाखी पर गुरुद्वारों में विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। इन कार्यक्रमों में लोग काफी उत्साह के साथ हिस्सा लेते हैं।


जीवनशैली पर शीर्ष समाचार


x