Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

दवाई बनाने के लिए हर साल 40 लाख गधे खरीदता है चीन

Edited By: Editor
Updated On : 2016-10-14 06:15:55
दवाई बनाने के लिए हर साल 40 लाख गधे खरीदता है चीन
दवाई बनाने के लिए हर साल 40 लाख गधे खरीदता है चीन

बीजिंग। ज्यादातर देश खाद्य सामग्री, कच्चा तेल या फिर उन संसाधनों का आदान-प्रदान करते हैं, जिनकी उनके पास कमी है। ये बात तो आप जानते हैं लेकिन आज हम आपको चीन की एक ऐसी खरीददारी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसको पढ़ने के बाद शायद आपकी हंसी ना रूके।

चीन एक ऐसा देश है जो अफ्रीका से गधों को खरीदता है। बुलेट और हाई स्पीड ट्रेन के जमाने का इस्तेमाल चीन इन गधों का इस्तेमाल मालों को उठवाने या फिर खाने के रुप में इस्तेमाल करने की बजाय दवाइयां बनाने के लिए करता है। दवाइयां बनाने के लिए चीन हर साल 40 लाख गधे खरीदे जाते हैं। अधिकतर इंपोर्ट अफ्रीका के नाइजर और बुर्कीना फासो से होता है।

रिपोर्ट के मुताबिक चीन अफ्रीका के अलग-अलग इलाकों से गधे मंगवाता है। चीन गधों की खाल से एक पारंपरिक दवाई ईजिओ बनाता है। इस दवाई का नाम टीसीएम है। इसे बनाने में गधे की खाल से निकलने वाली गिलेटिन का इस्तेमाल होता है। चीन में इस दवाई की भारी मांग है।

चीन इस मांग को देखते हुए हर साल करीब 5 हजार टन टीसीएम बनाता है। इस दवाई का इस्तेमाल चीन में सर्दी जुकाम, एनिमिया और अनिद्रा जैसी बीमारियों के लिए होता है।