दो अंतरिक्ष यात्रियों के साथ चीन ने अपना मानवयुक्त यान अंतरिक्ष में भेजा

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-10-17 10:35:49
दो अंतरिक्ष यात्रियों के साथ चीन ने अपना मानवयुक्त यान अंतरिक्ष में भेजा

बीजिंग। अंतरिक्ष में निरंतर ऊंची उड़ान उड़ रहे चीन ने अब तक के सबसे लंबे मानवयुक्त अंतरिक्ष अभियान के तहत दो अंतरिक्ष यात्रियों के साथ एक अंतरिक्ष यान प्रक्षेपित किया और इसके साथ ही वह वर्ष 2022 तक अपना स्थायी अंतरिक्ष स्टेशन स्थापित करने के लक्ष्य के एक कदम और करीब पहुंच गया। यह यान बाद में पृथ्वी की परिक्रमा कर रही चीन की दूसरी अंतरिक्ष प्रयोगशाला में मिलेगा।

शेनझोउ-11अंतरिक्ष यान में सवार चीन के अंतरिक्ष यात्रियों जिंग हाइपेंग और चेन दोंग ने चीन में गोबी रेगिस्तान के पास जियुक्वान उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से स्थानीय समयानुसार साढ़े सात बजे ( भारतीय समयानुसार सुबह पांच बजे) अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरी। सरकारी चीन सेंट्रल टेलीविजन (सीसीटीवी) ने इस प्रक्षेपण का सीधा प्रसारण किया। लॉन्ग मार्च-2 एफ वाहक रॉकेट शेनझोउ 11 को कक्षा में लेकर गया।

चीन के मानवयुक्त अंतरिक्ष इंजीनियरिंग कार्यालय की उपनिदेशक वू पिंग ने बताया कि यह दो दिन में पृथ्वी की परिक्रमा कर रही थियानगोंग-2 अंतरिक्ष प्रयोगशाला से मिल जायेगा और दोनों अंतरिक्षयात्री 30 दिन तक यहां रहेंगे।

गौरतलब है कि चीन ने अपना पहला मानवयुक्त अभियान 2003 में शुरु किया था। अंतरिक्ष में अमेरिका और यूरोप की बराबरी करने के लिए चीन अपने अंतरिक्ष अभियानों में अरबों रुपए खर्च करता है।


दुनिया पर शीर्ष समाचार