मसूद अजहर को बैन नहीं होने देगा चीन

Edited by: Editor Updated: 10 Oct 2016 | 05:05 PM
detail image

बीजिंग। न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप (एनएसजी) में भारत की एंट्री के लिए पड़ोसी मुल्क चीन तैयार हो गया है। चीन की ओर से सोमवार को कहा गया कि वह इस मुद्दे पर बात करने के लिए तैयार है। लेकिन भारत को चीन की एक शर्त माननी पड़ेगी, वो शर्त है कि भारत जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मसूद अजहर के बैन का यूएन में विरोध करेगा। चीन का कहना है कि वह काउंटर टेररिज्म के नाम पर किसी को भी राजनैतिक फायदा नहीं लेने देगा। गौरतलब है कि भारत ने पत्र लिखकर अजहर पर बैन लगाने और उसे आतंकी घोषित करने के लिए यूनाइटेड नेशन्स (यूएन) में अपील की है।

चीन की ओर से यह बयान उस समय आया है जब चीन के राष्ट्रपति ब्रिक्स में हिस्सा लेने के लिए भारत आ रहे हैं। चीन के उप विदेश मंत्री ली बाडोंग ने कहा, "आतंकवाद के नाम पर कोई भी देश राजनीतिक फायदा नहीं उठा सकता है। काउंटर टेररिज्म पर डबल स्टैंडर्ड नहीं होना चाहिए।" बता दें कि यूएन में चीन दो बार अजहर मसूद को बैन करने के फैसले पर अड़ंगा लगा चुका है। दोनों बार उसने भारत के  विरोध को दरकिनार करते हुए वीटो का इस्तेमाल किया है।