Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

देश में चीनी सामानों के विरोध से बौखलाया चीन

Edited By: Editor
Updated On : 2016-10-28 01:19:34
 देश में चीनी सामानों के विरोध से बौखलाया चीन
देश में चीनी सामानों के विरोध से बौखलाया चीन

नई दिल्ली। शुक्रवार को पूरे भारत में धनतेरस मनाया जाएगा। वहीं दीवाली आने में अब सिर्फ 2 ही दिन रह गए हैं। अमूमन इस दौरान हर साल बाजार में रौनक छाई रहती है, लेकिन इस बार हालात कुछ अलग हैं, पाकिस्तान की ओर से लगातार हो रही आतंकी घटना का चीन खुला समर्थन कर रहा है, जिस वजह से भारत में चीनी सामानों पर भारी मार पड़ रही है।

उरी आतंकी हमले के बाद चीन ने मसूद अजहर जैसे आतंकवादियों का खुलकर समर्थन किया था, जिसके बाद से ही देश भर में लोग चीनी सामानों का बहिष्कार कर रहे हैं। यह शायद पहली बार है जब भारत में चीनी बाजार ठंडा पड़ा हुआ है। लोग चीनी सामान खरीदने से बच रहे हैं।

वहीं भारत में हो रहे चीनी सामान के विरोध के बाद चीन इतने गुस्से में आ गया है कि उसने भारत को धमकी तक दे डाली है। चीनी दूतावास ने बयान जारी करते हुए कहा, ‘चीन दुनिया का सबसे बड़ा निर्यातक देश है। भारत में कुल निर्यात का 2 फीसद हिस्सा ही जाता है। इसलिए भारतीय बहिष्कार का अधिक असर नहीं होगा।

चीन केवल इस बात को लेकर चिंतित है कि इससे चीनी इकाइयों की ओर से भारत में होने वाले निवेश पर बुरा असर पड़ेगा। साथ ही दोनों देशों के रिश्ते भी प्रभावित होंगे।’ पिछले 1 महीने से पूरे देश में चीन के सामान का बहिष्कार करने की मुहिम छिड़ी हुई है, लोग सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक पर प्रदर्शन कर रहे हैं और साथ ही बाकी लोगों से भी चीनी सामान का इस्तेमाल न करने की अपील कर रहे हैं।

दूसरी तरफ इस विरोध से उन कुम्हारों को फायदा हो रहा है जिनकी रोजी-रोटी चीनी सामानों के चलते छिन गई थी। महाराष्ट्र के जलगांव में व्यापारियों ने चीनी सामान की बिक्री नहीं करने का फैसला किया है। यहां दीवाली के मौके पर चीनी सामान का कारोबार लगभग 70 करोड रुपए का होता रहा है, लेकिन नुकसान की परवाह न करते हुए लोगों ने इस बार त्योहारों पर लोगों ने चीनी सामानों का बहिष्कार करने का फैसला किया है।


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार