कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की ताजपोशी में लगा ग्रहण!

Edited by: Aniket Updated: 11 Dec 2017 | 03:36 AM
detail image

नई दिल्ली। गुजरात चुनाव के नतीजों से पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को नया पार्टी अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर अब एक नया रोड़ा आ गया है, जिसके चलते कांग्रेस पार्टी के नेताओं में दो फाड़ सी हो गई है।

दरअसल, गुजरात चुनाव में दूसरे चरण का मतदान 14 दिंसबर को होना है और इसी दिन कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की ताजपोशी भी होनी है, लेकिन पार्टी का एक धड़ा ये मानता है कि राहुल की ताजपोशी गुजरात चुनाव की वोटिंग के बाद हो जब्कि दूसरा धड़ा ये चाहता है कि राहुल की ताजपोशी गुजरात चुनाव का रिजल्ट आने से पहले हो और इसी बात को लेकर कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में तनातनी हो गई। बता दें कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने 4 दिसंबर को अध्यक्ष पद के लिए अपना नामांकन भरा था।

कांग्रेस पार्टी के कुछ नेताओं का कहना है कि 14 दिसंबर को ताजपोशी से गुजरात चुनाव प्रभावित हो सकता है और ऐसे में यही दिन राहुल का ताजपोशी के लिए सही होगा वहीं कुछ नेताओं ने इसका विरोध करते हुए तर्क दिया कि 16 से खरमास लग रहा है और खरमास में हिन्दू परंपरा के मुताबिक शुभ काम नहीं किए जाते हैं।

ऐसे में ताजपोशी का कार्यक्रम दो दिन बाद रखा जाए कांग्रेस नेताओं में दो फाड़ होने के चलते राहुल की ताजपोशी पर एक बार फिर संशय के बादल मंडराने लगे हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि इस बारे में अंतिम फैसला 12 दिसंबर को राहुल गांधी के दिल्ली वापस आने के बाद लिया जाएगा। साथ ही इस मामले में पंडितों से बात की जा रही है।

अगर सब कुछ तय कार्यक्रम के मुताबिक रहा तो कांग्रेस उपाध्य़क्ष राहुल गांधी 14 दिसंबर को कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए निर्वाचन अधिकारी से अपना सर्टिफिकेट लेंगे। इस मौके पर कांग्रेस पार्टी के कार्यालय में एक समारोह होगा और समारोह में पार्टी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहेंगे।

सूत्रों के मुताबिक राहुल जब अपना सर्टिफिकेट लेने आएंगे तो उनकी मां और कांग्रेस की निवर्तमान अध्यक्ष सोनिया गांधी भी उनके साथ होंगी। साफ है कि कांग्रेस 14 दिसंबर को राहुल की ताजपोशी को मेगा शो बनाने की तैयारी कर रही है।