Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

कांग्रेस ने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से तोड़ा अनुबंधः रिपोर्ट

Edited By: Editor
Updated On : 2016-11-08 16:39:59
कांग्रेस ने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से तोड़ा अनुबंधः रिपोर्ट
कांग्रेस ने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से तोड़ा अनुबंधः रिपोर्ट

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की सियासत से बेहद ही चौंकाने वाली ख़बर आ रही है। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश विधानसभा के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से नाता तोड़ लिया है। बताते हैं कि कांग्रेस आलाकमान प्रशांत किशोर के समाजवादी पार्टी के साथ बढ़ती नजदीकियों नाराज थी,जिसके चलते उन्हें मजबूरन यह बड़ा फैसला लेना पड़ा है।

गौरतलब है प्रशांत किशोर ने पिछले कुछ दिनों से सपा के काफी करीब देखे जा रहे हैं। इस बीच उन्होंने सुप्रीमो मुलायम सिंह और सीएम अखिलेश यादव से मुलाकात की थी, जिसके बाद यूपी में महागठबंधन की अटकलें तेज हो गई थी, लेकिन यूपी कांग्रेस प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने जब महागठबंधन की अटकलों को खारिज कर दिया तभी से ही प्रशांत किशोर के ऊपर गाज गिराने की सुगबुगाहट शुरू हो गई थी।

उल्लेखनीय है प्रशांत किशोर काफी दिनों से कांग्रेस आलाकमान से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रियंका गांधी को बड़ी भूमिका देने का दबाव बना रहे थे, लेकिन आलाकमान को यह मंजूर नहीं था जिसके चलते प्रशांत के पार्टी के कई बड़े नेताओं से मतभेद बढ़ गए थे और कई नेताओं ने तो प्रशांत किशोर का मुखर होकर विरोध भी किया।

सूत्रों के मुताबिक प्रशांत किशोर की सपा सुप्रीमो मुलायम व अमर सिंह से हालिया मुलाकातों की पार्टी को भनक भी नहीं थी। प्रशांत की इन गतिविधियों से ख़फा कांग्रेस ने यह तय कर लिया था कि प्रशांत किशोर से सारे अनुबंध तोड़ दिए जाएंगे और ऐसा लगता है कांग्रेस ने प्रशांत किशोर को अलविदा कह दिया है।

आपको बता दें कि 2014 में केन्द्र में भाजपा की सरकार और बीते साल बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार की सरकार बनाने में प्रशांत किशोर की महत्वपूर्ण भूमिका बताई जाती है।


राजनीति पर शीर्ष समाचार


x