Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

'इंदु सरकार' की रिलीज पर कांग्रेस ने तेज किया विरोध प्रदर्शन

Edited By: Vijayashree Gaur
Updated On : 2017-07-17 18:04:17
'इंदु सरकार' की रिलीज पर कांग्रेस ने तेज किया विरोध प्रदर्शन
'इंदु सरकार' की रिलीज पर कांग्रेस ने तेज किया विरोध प्रदर्शन

मुंबई। फिल्म ड़ायरेक्टर मधुर भंडारकर की अन्य फिल्मों की तरह उनकी आगामी फिल्म ' इंदु सरकार ' को असलियत के काफी करीब माना जा रहा है। यही कारण है कि फिल्म की रिलीज को लेकर काफी विरोध चल रहा है।

यह भी पढ़ें- 'लिपस्टिक अंडर माय बुर्का' के समर्थन में काम्या ने शेयर की TOP LESS तस्वीर

बता दें कि मधुर भंडारकर की आने वाली फिल्म ' इंदु सरकार ' में इमरजेंसी के दौर को दिखाया गया है। इस फिल्म मे नील नितिन मुकेश का किरदार संजय गांधी से प्रेरित बताया जा रहा है। यही वजह है कि कांग्रेस इस फिल्म की रिलीज को लेकर काफी विरोध कर रही है। अलग-अलग शहरों में कांग्रेस के प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन ने मधुर भंडारकर की सुरक्षा बढ़ा दी है।

वहीं कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने मुंबई में सेंसर बोर्ड के ऑफिस पहुंचकर बोर्ड के चीफ से मिलकर फिल्म के बारे में जानना चाहा। खबर लिखे जाने तक 14 प्रतिनिधियों को पहलाज निहलानी से मिलने की इजाजत दे दी गई है।

दरअसल कांग्रेस के मुताबिक फिल्म मे गांधी परिवार को लेकर कई आपत्तिजनक टिप्पणियां की गई हैं। कांग्रेस का मानना है कि फिल्म में गांधी परिवार के दो सदस्यों पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी और संजय गांधी को गलत परिप्रेक्ष्य में दिखाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें- फिर विवादों में कमल हासन, हिंदू संगठन ने दी जान से मारने की धमकी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि फिल्म मे कौन लोग हैं ये सभी जानते हैं और इसी वजह से फिल्म में तथ्यों को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है। सिंधिया ने आगे कहा कि ऐसा लगता है कि ये एक प्रायोजित फिल्म है।

दरअसल इमरजेंसी को लेकर बनी फिल्मों पर कांग्रेस पार्टी और गांधी परिवार का विरोध नया नहीं है। इससे पहले 1975 में मशहूर फिल्मकार गुलज़ार की फिल्म 'आंधी ' में भी कांग्रेस ने इंदिरा गांधी के किरदार को गलत तरीके से पेश करने का आरोप लगाकर फिल्म का विरोध किया था। कांग्रेस ने प्रकाश झा की फिल्म 'राजनीति' और उसमे कैटरीना कैफ के किरदार को लेकर भी आपत्ति जताई थी हालांकि तब पार्टी ने खुलकर विरोध नहीं किया था।

यह भी पढ़ें- अमिताभ ने कुमार विश्वास को भेजा नोटिस, विश्वास ने वापस किए 32 रुपए

गौरतलब है कि नागपुर के पोर्टो होटल में ये प्रेस कॉन्फ्रेंस होनी थी, लेकिन प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरु होने के ठीक पहले कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जोरदार विरोध प्रदर्शन किया है। विरोध के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द कर दी गई है। विरोध के चलते मधुर भंडारकर अपनी टीम के साथ बीच रास्ते से ही लौट गए। मधुर ने राहुल गांधी को ट्वीट कर पूछा कि क्या उन्हें देश मे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता नहीं है।

 


मनोरंजन पर शीर्ष समाचार


x