करेंसी बंद होने से 50 हज़ार कर्मचारियों का रूका वेतन

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-11-11 11:19:20
करेंसी बंद होने से 50 हज़ार कर्मचारियों का रूका वेतन

कानपुर। पीएम मोदी के 500-1000 नोट बैन पर अच्छाइयो के साथ साइड इफेक्ट भी दिखने लग गए हैं। उत्तर प्रदेश के कानपुर में चमड़ा उद्योग के करीब 50 हजार कर्मचारियों मजदूरों को वेतन के लाले पड़ गए है। दरअसल टेनरी मालिकों के पास नए नोट नहीं है और कर्मचारी पुराने 500 और 1000 के नोट लेने को तैयार नहीं है।

आपको बता दे कि कानपुर शहर के जाजमउ इलाके में करीब चार सौ टेनरियां है । और यहा पर 50 हजार से भी ज्यादा मजदूर कर्मचारी काम करते है। दरअसल टेनरियों में वेतन तारीख महीने की नौ से दस तारीख होती है । लेकिन अचानक पीएम मोदी के  आठ नवंबर को पांच सौ हजार के नोट बंद के ऐलान के बाद से ही टेनरी मालिकों के सामने संकट खड़ा हो गया है कि वह इतने कर्मचारियों को नकदी में कहां से वेतन बांटे क्योंकि कर्मचारी 500 और 1000 के नोट लेने से मना कर रहे है। 


उत्तर प्रदेश पर शीर्ष समाचार