दिल्ली के लोगों में है असुरक्षा का भाव : रिपोर्ट

Edited by: Editor Updated: 07 Oct 2016 | 08:27 PM
detail image

नई दिल्ली।कहने को तो दिल्ली दिलवालों की है लेकिन दिल्ली में दिल्लगी नहीं है तभी तो यहां पर उदासी छाई हुई है। दरअसल दिल्ली के लोगों में असुरक्षा का भाव ज्यादा रहता है। देखने में तो दिल्ली की चकाचौंध से भरी भाग-दौड़ वाली लाइफ में आपको लगता होगा कि ये लाइफ बहुत लुभावनी है लेकिन ऐसा नहीं है। जरा हाल ही में हुए एक सर्वे पर नजर डालिए, जो आपको राजधानी दिल्ली की हकीकत से रूबरू करवाएगा।

जी हां ये ध्यान देने योग्य बात है दरअसल हाल ही में हुए सर्वे के मुताबिक दिल्ली को सबसे ज्यादा अनहैपी लोगों वाले शहरों में से एक माना गया है। वहीं मुंबई के लोगों को उनकी अनहेल्दी लाइफस्टाइल होने के बावजूद खुश रहने वाले लोगों की लिस्ट में चुना गया है।

बता दें कि ये सर्वे वर्ल्ड हार्ट के दिन हुआ और इस सर्वे का मेन मुद्दा ही ये था कि मुंबई, से लेकर दिल्ली, चंडीगढ़, बेंगलुरु और कोलकाता के लोगों की हेल्थ को उनके खाने-पीने, रहन-सहन और उनकी खुशी के स्तर की जांच की जाए। इस सर्वे के हिसाब से तो मुंबई के लोगों ने अच्छे खानपान के मामले में 51%, एक्टिव होने के मामले में 31% और लाइफस्टाइल में 38% का स्कोर हासिल किया हैं। वहीं दिल्ली का आंकड़ा भी कुछ हद तक ऐसा ही रहा और दूसरी तरफ चंडीगढ़ सबसे एक्टिव शहर रहा। लेकिन जब बात आई खुश रहने की तो सभी शहरों को पछाड़कर मुंबई ने 81% स्कोर हासिल किये जोकी एवरेज स्कोर से कहीं ज्यादा हैं।

हालांकि मुंबई के एक नामी हॉस्प‍िटल के डॉ. शशांक जोशी का कहना है कि क्या हुआ अगर इस शहर के लोग स्वस्थ नहीं हैं लेकिन वह खुश तो हैं। इस सर्वे से एक बात तो पता चली कि इस शहर के लोगों को अपने खान पान की आदतों और वर्कआउट पर ध्यान देने की जरूरत है। साथ ही खुश रहने के मामले में चंडीगढ़ ने सबसे कम स्कोर हासिल किये हैं और वहीं दिल वालों की दिल्ली दूसरे नंबर पर रही है।