Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

योगी ने 15 दिनों में मांगा मंत्रियों और अधिकारियों से संपत्ति का ब्यौरा

Edited By: Ashish Kumar
Updated On : 2017-03-20 08:48:48
योगी ने 15 दिनों में मांगा मंत्रियों और अधिकारियों से संपत्ति का ब्यौरा
योगी ने 15 दिनों में मांगा मंत्रियों और अधिकारियों से संपत्ति का ब्यौरा

लखनऊ। यूपी में सत्ता की बागडोर संभालते ही योगी सरकार ने एक्शन लेना शुरु कर दिया है। शपथ लेने के अगले ही दिन योगी आदित्यनाथ ने प्रधान सचिवों और अलग-अलग विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। सभी अधिकारियों को योगी ने खड़े होकर शपथ दिलाई। सभी अधिकारियों को को ईमानदारी स्वच्छता और स्पष्टता की शपथ दिलाई।

यह भी पढ़ें- एक्शन में योगी, इलाहाबाद और जौनपुर में बूचड़खाने हुए सील

आदित्यनाथ ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे 15 दिनों के भीतर अपनी चल, अचल संपत्ति और आयकर का ब्योरा दें। आदित्यनाथ ने कहा कि वे संकल्प पत्र पढ़ें और उसे लागू करें। बैठक मे दोनों उप मुख्यमंत्रियों के साथ सभी प्रमुख सचिव, विशेष सचिव, सचिव शामिल हुए।

मंत्रियों को भी देना होगा चल और अचल संपत्ति का ब्यौराः

बैठक के बाद कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा और सिद्धार्थनाथ सिंह ने मीडिया को बताया कि पीएम नरेन्द्र मोदी के ‘भ्रष्टाचार' को समाप्त करने के संकल्प के तहत मुख्यमंत्री ने सभी मंत्रियों को अपनी आय और चल अचल संपत्ति का ब्यौरा उपलब्ध कराने को कहा है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि सभी मंत्रियों को आय, चल-अचल संपत्ति का पूरा ब्यौरा 15 दिन में संगठन को और मुख्यमंत्री के सचिव को देना है।

नए विधायकों की होगी ट्रेनिंगः

इसके अलावा नये विधायकों के प्रशिक्षण के लिए कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना के नेतृत्व में एक कमेटी बनेगी, जिसमें प्रयास होगा कि सभी विधायकों की भलीभांति ट्रेनिंग हो। इस ट्रेनिंग सेशन में केंद्र के भी कुछ बड़े नेता आ सकते हैं। वे विधायकों की कक्षाएं लेंगे।


उत्तर प्रदेश पर शीर्ष समाचार