सोशल मीडिया पर चर्चा में हैं कैब ड्राइवर की दरियादिली

Edited by: Editor Updated: 10 Nov 2016 | 11:54 AM
detail image

नई दिल्ली। सरकार के 1000, 500 की करेंसी बंद करने के फैसले से जहां हर कोई दैनिक समस्याओं से दो चार हो रहा है वहीं एक ओला कैब ड्राइवर ने लोगों समस्या पर दरियादिली दिखाकर मिसाल कायम की है। कैब ड्राइवर की इस दरिया दिली की कहानी सोशल मीडिया में चर्चा का विषय बनी हुई है।

फेसबुक पर वायरल हुई सच्ची घटना को कुछ घंटों में 10 हजार से ज्यादा लोगों ने लाइक किया और हजारों ने इसे अपनी वाल पर शेयर किया, लेकिन सबसे बड़ी बात यह है घटना से प्रभावित होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इसे रिट्वीट किया।

विप्लव अरोरा नाम के एक नागरिक ने फेसबुक पर लिखा, 'मैंने रेलवे स्टेशन जाने के लिए एक ओला कैब बुक किया। दुर्भाग्य से मेरे वालेट पर 500 के ही नोट थे, इसके बावजूद भी कि मुझे 500 और 1000 की नोटें न चलने के बारे में जानकारी थी। मैंने सोचा कि ओला मनी से ऑनलाइन ही पेमेंट कर दूंगा, लेकिन जो बिल था वो ओला मनी में मौजूद रकम से कुछ ज्यादा था।

मैंने ड्राइवर को बाकी पैसे कैश देने का मन बनाया लेकिन कोई भी एटीएम चालू नहीं मिला। यह भी तय था कि ऐसे मौके पर कोई भी आपको 500 रुपए का खुला नहीं देगा, लेकिन इस समस्या के हल के तौर पर ड्राइवर ने जो जवाब दिया वह न सिर्फ उसके प्रति में मेरे में मन में आदर का भाव पैदा किया बल्कि मैं यह पोस्ट लिखने के लिए प्रेरित हुआ।

उन्होंने कहा, 'सर बाकी के पैसे रहने दीजिए, दो पैसे कम कमा लेंगे, थोड़ी सी तकलीफ होगी वो तो सब को हो रही है। अब सरकार के फैसले का सम्मान करते हुए देश की तरक्की में यह हमारा योगदान ही समझ लेंगे। आप बेफिक्र होकर अपनी ट्रेन लीजिए।

विप्लव ने अंत में ड्राइवर विपिन कुमार को हैश टैग करते हुए लिखा उस ड्राइवर को साल्यूट करता हूं। उस ड्राइवर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उस बात को सही साबित कर दिया जिसमें उन्‍होंने कहा था कि देश का आम आदमी हमेशा उस को स्वीकार करने को तैयार रहता है तो देश हित में हो।