Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

BHU: बेटी बचाओं नहीं बेटियों पर लाठी बरसाओं !

Edited By: Ankur Maurya
Updated On : 2017-09-26 00:12:09

बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी (BHU) में पिछले 4 दिन से बवाल मचा हुआ है। छात्राएं अपनी सुरक्षा को लेकर आश्वासन ही तो मांग रही थीं, लेकिन जवाब देने में 3 दिन गुजर गए और वीसी साहब बाहर नहीं आए। बीएचयू की आग से पूरा काशी फिर प्रदेश सुलगता रहा लेकिन सब चुप थे, लेकिन जब लाठी चली औऱ पुलिस ने छात्राओं को अपराधियों की तरह पीटा तब जाकर सब जागे।

वैसे बीएचयू तो बंद है। साथ ही वाराणसी के बाकी शैक्षणिक संस्थान भी बंद करा दिए गए हैं, लेकिन सिय़ासत के बागों में बहार आ गई है। बाबा भोलेनाथ की नगरी काशी से लेकर दिल्ली के जंतर-मंतर तक धरना प्रदर्शनों का दौर जारी है, प्रशासन से लेकर शासन तक को लानत भेजी जा रही है और सरकार कह रही है कि दोषी बख्शे नहीं जाएंगे।

वहीं कहा जा रहा है कि मामले को लेकर पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सीएम योगी से बात की है और जरूरी कदम उठाने को कहा गया है। हालांकि योगी सरकार ने अब तक कार्रवाई के नाम पर अतिरिक्त सिटी मजिस्ट्रेट, लंका थाने के थाना इंचार्ज भेलूपुर के सीओ को हटा दिया है, जबकि 1200 अज्ञात छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।

पूरे मामले में बीएचयू के वाइस चांसलर जीसी त्रिपाठी की भूमिका भी सवालों में हैं। छात्र वीसी को पद से हटाने की मांग कर रहे हैं, लेकिन वीसी गिरीश चंद्र त्रिपाठी ने पूरे मामले को नया मोड़ दे दिया है और कह रहे हैं कि बीएचयू में हुए बवाल के पीछे बाहरी लोगों का हाथ हैं।

बवाल करने वाले बाहरी थे या नहीं ये तो जांच के बाद तय होगा, लेकिन ये तो बताइए वीसी साहब बाहरी लोग विश्वविद्यालय परिसर में कैसे पहुंच गए और वो भी इतनी संख्या में, आपकों जवाब देना होगा और छात्राओं पर लाठीचार्ज कहां तक जायज है ?

क्या यही है मोदी सरकार का मिनिमन गवर्नमेंट,मैक्सिमम गवर्नेंस का फार्मूला ?, जहां ''बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ'' का नारा ''बेटी बचाओं नहीं बेटियों पर लाठी बरसाओं'' में तब्दील हो गया और शासन मूक दर्शन बना देखता रहा ?

25 सितंबर, शाम 7 बजे को प्रसारित प्राइम टाइम डिबेट शोजो कहूंगा सच कहूंगा’ का यह एपिसोड हिन्दी ख़बर चैनल के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल पर भी देख सकते हैं।

x