मुकाबले में हिलेरी क्लिंटन के करीब पहुंचे डोनाल्ड ट्रंपः सर्वे

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-11-05 20:22:08
मुकाबले में हिलेरी क्लिंटन के करीब पहुंचे डोनाल्ड ट्रंपः सर्वे

वाशिंगटन। अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव से पूर्व कराए गए एक ताजा सर्वेक्षण के अनुसार व्हाइट हाउस के लिए मुकाबला और कांटे का हो गया है और डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन अपने रिपब्लिकन प्रतिद्वंदी डोनाल्ड ट्रंप से मात्र दो प्रतिशत अंक से आगे हैं।

बता दें कि अमेरिका के अगले राष्ट्रपति के चयन के लिए 8 नवंबर को होने वाले चुनाव में करीब 20 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इनमें से तीन करोड़ 50 लाख से अधिक मतदाता पहले ही मतदान कर चुके हैं।

‘फॉक्स न्यूज’ ने शुक्रवार को अपने ताजा सर्वेक्षण में कहा कि ट्रंप (43 प्रतिशत) हिलेरी से (45 प्रतिशत) दो प्रतिशत अंकों से पीछे चल रहे हैं। हिलेरी एक सप्ताह पूर्व तीन अंक और मध्य अक्तूबर में छह अंकों से आगे थीं।

डेमोक्रेटिक चुनाव सर्वेक्षक क्रिस एंडरसन ने कहा कि एफबीआई की कार्रवाई ने हिलेरी को अंतिम सप्ताह में बचाव की मुद्रा में आने पर मजबूर कर दिया।

एक अन्य मीडिया संस्थान ने हिलेरी को मिलने वाले निर्वाचन मंडल के मतों को पहली बार 270 की संख्या से नीचे बताया। अमेरिका में चुनाव जीतने के लिए 270 मत प्राप्त करना आवश्यक है।

सीएनएन ने अपने चुनावी नक्शों के अनुमानों के अनुसार, इस साल राष्ट्रपति पद के चुनाव में हिलेरी को निर्वाचन मंडल के 268 मत मिलने की संभावना जताई है जो आवश्यक संख्या से दो कम है। सीएनएन ने ट्रंप को निर्वाचन मंडल के 204 मत मिलने की संभावना व्यक्त की है।

ट्रंप के खिलाफ बनी फिल्म का हुआ प्रीमियरः

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव की सरगर्मियां जोरो पर हैं और ऐसे माहौल में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप पर बनाई गई एक फ़िल्म का प्रीमियर न्यूयॉर्क में हुआ। फिल्म का नाम है- 'गॉड वर्सेज़ ट्रंप ओनली लव विंस' यानी भगवान बनाम ट्रंप - सिर्फ़ प्यार जीतता है।

एक वृतचित्र के तौर पर बनाई गई इस फ़िल्म में ट्रंप की नीतियों को आधार बनाकर इंसानियत और पर्यावरण को होने वाले संभावित नुकसान पर ज़ोर दिया गया है। इस फ़िल्म के ब्रिटिश डायरेक्टर ने पिछले 2 महीने पहले ही शूटिंग शुरू की और गुरूवार को इसका प्रीमियर न्यूयॉर्क में आयोजित किया गया।

फ़िल्म के प्रोड्यूसर सुनील सदरंगानी फ़िल्म के बारे में कहते हैं, "यह फ़िल्म दुनिया को संदेश देना चाहती है कि अगर ट्रंप अमरीकी राष्ट्रपति बन जाते हैं तो दुनिया पर क्या असर पड़ सकता है। दुनिया के लिए वह काफ़ी ख़तरनाक होगा। आप कह सकते हैं कि डोनल्ड ट्रंप के खिलाफ़ यह फ़िल्म है।"


दुनिया पर शीर्ष समाचार