GST की वजह से छोटे कारोबारियों की हुई Happy नहीं 'Sad दिवाली'

Edited by: Ankur_maurya Updated: 20 Oct 2017 | 04:00 PM
detail image


नई दिल्ली। कारोबारियों के लिए उनके कारोबार के लिए 'दिवाली' हर साल सोने पे सुहागा होती है, लेकिन इस बार दिवाली इन करोबारियों के लिए फिकी रही। इस बर ऑनलाइन शॉपिंग और GST का सीधा असर दिखाई दिया।

कारोबारियों के मुताबिक इस साल दिवाली पर सेल बीते साल की तुलना में 30 फीसदी तक कम हुई है। ग्राहकों के पास ई-कॉमर्स कंपनियों के डिस्काउंट ऑफर, कैश की कमी और ज्यादा टैक्स रेट की सीधा असर सेल पर पड़ा। कारोबारियों के मुताबिक इस साल ग्राहक बाजारों में खरीदारी के लिए कम आएं हैं।

ग्राहकों के पास कैश की कमी और ई-कॉमर्स कंपनियों के डिस्काउंट सेल ऑफर्स का नेगेटिव असर कारोबार पर सबसे ज्यादा पड़ा। इस बार सेल पिछली दिवाली की तुलना में 30 फीसदी तक कम रही है। ट्रेडर्स को अपने स्टॉक को लेकर चिंता हो रही है क्योंकि उनका फेस्टिवल के लिए खरीदा गया स्टॉक 50 फीसदी तक बचा हुआ है।

रिपोर्ट के मुताबिक रिटेल में कन्ज्यूमर ड्यूरेबल, FMCG प्रोडक्ट, इलेक्ट्रॉनिक्स, किचन ऐप्लायंस और एक्सेसरी, लगेज, घड़ियां, गिफ्ट आइटम, मिठाई, ड्राई फ्रूट्स, होम डेकोर, लाइट और फिटिंग्स, घड़ियां, रेडीमेड गारमेंट्स, डेकोरेशन आइटम, फर्निशिंग और फैबिरक की सेल पर सबसे ज्यादा असर पड़ा।

कुछ प्रोडक्ट पर 28 फीसदी जीएसटी से कस्टमर और ट्रेडर्स दोनों परेशान रहे क्योंकि कोई भी प्रोडक्ट की कीमत का वन थर्ड से ज्यादा टैक्स देने को तैयार नहीं था। ई-कॉमर्स पोर्टल के हैवी डिस्काउंट ऑफर और बिग बिलियन सेल ने ऑफलाइन बिजनेस को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाया है।