ईडी ने कुर्क की जाकिर नाइक की 18.37 करोड़ की संपत्ति

Edited by: Editor Updated: 20 Mar 2017 | 08:15 PM
detail image

नई दिल्ली। विवादास्पद इस्लामिक धर्म प्रचारक जाकिर नाइक के खिलाफ सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया। प्रवर्तन निदेशालय ने 200 करोड़ रुपए के मनी लॉन्ड्रिंग केस में इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (IRF) और अन्य की 18.37 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त कर ली है।

यह भी पढ़ें- 2 साल बाद आज सिंधु जल समझौते पर बात करेंगे भारत-पाक

वहीं दूसरी तरफ, एनआईए ने जाकिर नाइक को दूसरा नोटिस जारी कर आतंक रोधी कानून के तहत उनके खिलाफ दर्ज एक मामले में 30 मार्च तक पेश होने को कहा है। इससे पहले ईडी ने जाकिर नाइक और IRF से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के इस मामले में पिछले महीने उनके एक साथी को गिरफ्तार भी किया था।

बता दें कि ईडी को जाकिर नाइक की भी तलाश है जो गिरफ्तारी से बचने के लिए सऊदी अरब में हैं। ईडी ने इसी महीने जाकिर नाईक की बहन नइलाह नौशाद नूरानी से भी पूछताछ की है। ऐसा माना जाता है कि नइलाह जाकिर की 5 कागजी कंपनियों में निदेशक थीं। नइलाह नौशाद नूरानी से राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) भी पूछताछ कर चुकी है।

यह भी पढ़ें- दिल्ली को मिली राहत, 15 दिन के लिए रद्द हुआ जाट आंदोलन

ये पांचों 'शैल' कंपनियां नाइक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के लिए मनी लॉन्ड्रिंग के कथित आरोप से जुड़ी हुई हैं। ईडी ने अपनी जांच में साबित किया था कि जाकिर नाइक और उसके एनजीओ ने करीब 200 करोड़ रुपए की मनी लॉन्ड्रिंग की है। इसमें से 50 करोड़ रुपए नइलाह के बैंक खातों में जमा किए गए हैं।