जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए किसानों ने बनाया संगठन

Edited by: Editor Updated: 22 Nov 2016 | 03:37 PM
detail image

बांदा। बुंदेलखंड में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए कृषि अधिकारियों के निर्देश पर गांवों में किसान नेता बनाए गए हैं। वहीं, 50-50 किसानों को सदस्य बनाया गया है। यह लोग कृषि अधिकारियों के निर्देश पर समय-समय पर जैविक खेती के विषय पर गोष्ठी, कार्यशाला आयोजित करेंगे और जानकारियां एक दूसरे में बांटेंगे।

रिपोर्ट के मुताबिक शासन स्तर पर भूमि की उर्वराशक्ति बढ़ाने, शुद्ध फसलों के उत्पादन और कम कीमत में बेहतर उपज के उद्देश्य से जैविक खेती पर बल दिया जा रहा है। बुंदेलखंड के कुछ चयनित जिलों में किसानों का दल तैयार किया जा रहा है।

यह भी पढ़े- बांदा में हुआ किसान दिवस का आयोजन

इसके अंतर्गत बांदा जिले का ¨तदवारी ब्लॉक चयनित किया गया है, जिसमें किसानों के दल बनाए जा रहे हैं। यह दल एक राजनैतिक संगठन की तरह काम करेगा, लेकिन इसका उद्देश्य सिर्फ जैविक खेती को बढ़ावा देना होगा।

सूत्रों के मुताबिक शासन ने इसका नाम जैविक योजना रखा है। सब्जेक्ट मैटर स्पेश्लिस्ट ने बताया कि सरकार ने पूरे हमीरपुर जिले में यह योजना लागू की है, जबकि बांदा में सिर्फ ¨तदवारी ब्लॉक को ट्रायल के रूप में देखा जा रहा है।