MP में 'फूलछाप कांग्रेसी' ही कांग्रेस को बना रहे कमजोर: कांग्रेस नेता

Edited by: PoojaDevi Updated: 05 Oct 2017 | 09:30 AM
detail image

दतिया। आम चुनाव नजदीक आ रहे है और कांग्रेस पार्टी की मुश्किलें भी बढ़ती नजर आ रही है। दरअसल, मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी विपक्ष से नहीं बल्कि अपनी ही पार्टी के लोगों से परेशान है। कांग्रेस अपनी पार्टी के लोगों पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने के आरोप लगा रही है।

बता दें कि दतिया में चुनाव कराने आए निर्वाचन अधिकारियों पर बीजेपी से सांठ-गांठ कर मनपसंद पदाधिकारियों की नियुक्ति के प्रयास किए जाने के आरोप लगाए गए हैं। कांग्रेसियों का कहना है कि एक साल बाद विधानसभा चुनाव होने हैं और उससे पहले हो रहे संगठन चुनाव के लिए दतिया आए निर्वाचन अधिकारियों ने बीजेपी नेताओं से सांठगांठ कर ली है।

बता दें कि इससे पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद कांतिलाल भूरिया भी कई बार आरोप लगा चुके हैं कि फूलछाप कांग्रेसी ही कांग्रेस को नुकसान पहुंचा रहे हैं। इनके अलावा पार्टी के स्थानीय नेताओं का भी आरोप है कि संगठन चुनाव के लिए नियुक्त पदाधिकारियों ने स्थानीय बीजेपी नेताओं से हाथ मिलाकर उनकी मनमाफिक पदाधिकारियों की नियुक्ति के लिए सौदेबाजी कर ली है।

बता दें कि इससे पहले पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के घोषित उम्मीदवार भागीरथ प्रसाद को सरकार के मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भाजपा में शामिल कराया था और वे चुनाव भी जीते थे। बताया जा रहा है कि इस बार भी कुछ ऐसा ही हो रहा है। फूलछाप कांग्रेसियों को पदाधिकारी बनाया जा रहा है, ताकि विधानसभा चुनाव से पहले उनका दल बदलवाकर कांग्रेस को कमजोर कर दिया जाए।