शाप से मुक्ति के लिए विजयादशमी पर होता है युद्ध

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-10-11 18:16:38
शाप से मुक्ति के लिए विजयादशमी पर होता है युद्ध

देहरादून। उत्तराखण्ड के देहरादून जिले के उत्पाल्टा और कुरोली गांव में लोग शाप से मुक्ति पाने के लिए विजयादशमी के दिन युद्ध करते है। सदियों पुरानी इस मान्यता के कारण मंगलवार को दोनों गांवों के लोगों ने करीब एक घंटे तक गागली युद्ध किया।

सुबह थाती-माठी (गांव का मूल स्थान) और गांव के कुल देवता बत्तिसर देव की पूजा की गई। दशहरे के दिन जब पूरा देश रावण दहन कर अपने अंदर की बुराइयों को खत्म करने का संकल्प लेता है, उसी दिन देहरादून जिले में जौनसार बावर क्षेत्र के दो गांवों में कुछ अलग ही नजारा देखने को मिलता है।

इस दिन यहां दशहरे के स्थान पर पाइता पर्व मनाया जाता है। दोनों गांवों के लोग पश्चाताप के रुप में अरवी के डंठलों के गागली युद्ध करते हैं। इस युद्ध की सबसे खास बात ये है कि इसमें किसी भी व्यक्ति की हार या जीत नहीं होती है।


उत्तराखंड पर शीर्ष समाचार