पूर्व गवर्नर ने नोटबंदी को ठहराया सही, गिनाए 5 बड़े फायदे

Edited by: Editor Updated: 17 Nov 2016 | 06:57 PM
detail image

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर डी सुब्बाराव ने नोटबंदी के फैसले की तारीफ की है। उन्होंने कहा कि इससे बैंकों के पास बड़ी तादाद में पैसा आएगा। जिसका सीधा फायदा देश की आम जनता को मिलेगा।

सुब्बाराव ने आगे कहा कि यदि बैंको के पास बड़े तादाद में पैसा आएगा तो बैंक लोन की ब्याज दरें घटा सकते हैं। इससे बैंकों के कॉस्ट ऑफ फंड में कमी आएगी।

ये भी पढ़ें- 1000 के नोट लाने पर अभी विचार नहीः जेटली

गौरतलब है कि डी सुब्बाराव 2008 से 2013 तक आरबीआई के गवर्नर रहे थे। उनका कहना है कि नोटबंदी से देश को 5 अहम फायदे बताएं हैं जो इस प्रकार हैं...

1. पहला फायदाः नोटबंदी से बैंको का कॉस्ट ऑफ फंड कम होगा जिससे वो लोन पर ब्याज दर कम कर सकते हैं। अगर बैंक लोन पर ब्याज की दर कम करेंगे तो अर्थव्यवस्था में ज्यादा निवेश होगा।

ये भी पढ़ें- नोटबंदीः केजरीवाल के विरोध में व्यापारियों ने लगाए मोदी-मोदी के नारे

2. दूसरा फायदाः नोटबंदी के बाद नकद कालाधन के खात्में से जमीन-मकान इत्यादि की कीमतों और किराए में कमी आ सकती है।

3. तीसरा फायदाः कालाधन ऐसा पैसा है जिसपर इनकम टैक्स नहीं चुकाया गया है। नोटबंदी के बाद अघोषित आय पर लगाए गए टैक्स और जुर्माने से सरकारी खजाने में बड़ी राशि आ सकती है।

ये भी पढ़ें- नोटबंदीः घर में है शादी तो अब खाते से निकाल सकेंगे ढाई लाख रुपए

4. चौथा फायदाः नोटबंदी से सरकार कुल जीडीपी का 0.5 प्रतिशत टैक्स के रूप में पा सकती है जो तकरीबन 65 हजार करोड़ रुपए है। सरकार इस पैसे का उपयोग आधारभूत ढांचे को विकसित करने में करक सकती है। जिससे निवेश बढ़ने की संभावना है।

5. पांचवां फायदाः नोटबंदी से अर्थव्यवस्था की एक तरह से सफाई भी होगी जिससे बचत और निवेश पर सकारात्मक असर पड़ेगा। अर्थव्यवस्था में पारदर्शिता आने से कारोबारी सहूलियतें भी बढ़ेंगी।