Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

गैस सब्सिडी व पढ़ाई पर ग्रहण बन सकता है आधार कार्ड

Edited By: Editor
Updated On : 2016-12-01 17:48:52
 गैस सब्सिडी व पढ़ाई पर ग्रहण बन सकता है आधार कार्ड
गैस सब्सिडी व पढ़ाई पर ग्रहण बन सकता है आधार कार्ड

नई दिल्ली। कालेधन पर सर्जिकल स्ट्राइक के बाद अब सरकार नें कालाबाजारी रोकने की नई योजना बनाई है। इस योजना के तहत 1 दिसंबर के बाद बिना आधार कार्ड से चल रहे गैस कनेक्शन पर दी जा रही सब्सिडी बंद कर दी जाएगी। उन स्टूडेंट्स को दिक्कत होगी जो आईआईटी मेन के फॉर्म भरने वाले हैं और उनके पास आधार कार्ड नहीं है।

रिपोर्ट के मुताबिक ऑयल कंपनियों ने निर्देश जारी किए हैं कि अगर आपने भी अपना गैस कनेक्शन आधार नंबर से लिंक नहीं कराया है या आपके पास आधार कार्ड नहीं है, तो आपको एलपीजी पर मिलने वाली सब्सिडी बंद हो जाएगी।

वहीं, अगर आपके पास आधार कार्ड नहीं है या आधार कार्ड होते हुए भी आपने इसे अपनी गैस एजेंसी से लिंक नहीं कराया है, तो परेशान होने की बात नहीं है। गैस कनेक्शन को आधार नंबर से लिंक कराने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर 2016 तय की गई है।

यह भी पढ़ें- जीडीपी ग्रोथ में हुई बढ़ोत्तरी, दूसरी तिमाही में 0.2% की बढ़त

मिली जानकारी के मुताबिक अगर 31 दिसंबर तक भी आधार नंबर को गैस कनेक्शन से लिंक नहीं कराते हैं, तो आप हमेशा के लिए सब्सिडी से वंचित हो जाएंगे। आपको बता दें कि रसोई गैस की कालाबाजारी को रोकने के मकसद से सरकार ने सब्सिडी वाले सिलेंडरों की संख्या सीमित कर दी है।

गौरतलब है कि सितंबर 2012 में सरकार ने सालभर में सब्सिडी वाले 6 सिलेंडर ही देने की शुरुआत की थी। जनवरी 2013 में इनकी संख्या 9 कर दी गई थी और जनवरी 2014 में इसे 12 कर दिया गया था। सरकार ने इस प्रक्रिया में पारदर्श‍िता लाने के लिए गैस कनेक्शन को आधार नंबर से जोड़ना शुरू करने की योजना शुरू की है। घरेलू गैस पर सब्सिडी उन लोगों को नहीं मिलती जिनकी सालाना आमदनी 10 लाख रुपए या उससे ज्यादा है। इसके अलावा जिनकी आमदनी 10 लाख रुपए से कम भी है तो वो अपनी इच्छा से अपनी सब्सिडी छोड़ सकते हैं।

 


बिजनेस पर शीर्ष समाचार


x