खुशखबरी! अब इन चीजों को बेचने पर नहीं लगेगा GST

Edited by: Editor Updated: 17 Jul 2017 | 02:26 PM
detail image

नई दिल्ली। देश का सबसे बड़ा आर्थिक सुधार GST लागू हो चुका है, लेकिन कई चीजों पर लोग GST के फैसले से खुश नहीं है। कुछ ऐसी चीजों पर GST लागू होने की वजह से लोगों की जेब पर भारी असर पड़ रहा है। अब सरकार ने इस पर सोचते हुए फैसला लिया है कि अगर आप अपनी पुरानी कार और सोने की ज्वैलरी बेचने जा रहे हैं तो आपको अब इन पर GST नहीं देना होगा।

यह भी पढ़ें- खुशख़बरी! अब सेकंड हैंड सामान खरीदने पर नहीं लगेगा GST

कल सरकार ने अपना पुराना फैसला वापस लेते हुए कहा कि जब भी कोई आम आदमी पुरानी ज्‍वैलरी को बेचेगा, तो उस पर उसे और ज्‍वैलर को GST के तहत किसी भी तरह का रिवर्स चार्ज नहीं देना होगा। साथ ही, वित्त मंत्रालय की ओर से दिए गए बयान में कहा गया है कि पुरानी ज्‍वैलरी की तरह ही यह सिद्धांत पुरानी कार बेचने पर लागू होता है।

वित्त मंत्रालय ने कहा, GST कानून का सेक्‍शन 9 कहता है कि जब भी कोई अनरजिस्‍टर्ड सप्‍लायर (इस मामले में आम आदमी) किसी रजिस्‍टर्ड व्‍यक्ति (इस मामले में ज्‍वैलर) को ज्‍वैलरी बेचता है, तो आम आदमी को इसके लिए कोई टैक्‍स नहीं देना होगा। ऐसे ट्रांजैक्‍शन में आर.सी.एम. के तहत टैक्‍स रजिस्‍टर्ड व्‍यक्ति के जरिए भरा जाएगा। GST की मास्‍टर क्‍लास में रेवेन्‍यू सेक्रेटरी ने बताया था कि पुरानी ज्‍वैलरी बेचने पर 3 फीसदी GST देना होगा।

यह भी पढ़ें- खुशखबरी: घर में पड़ा सोना बेचेंगे, तो इन पर नहीं लगेगा GST

गुरुवार को वित्त मंत्रालय ने भारी दबाव के बाद यह फैसला वापस ले लिया। मंत्रालय ने बयान जारी कर इस पर सफाई दी और बताया कि पुरानी ज्‍वैलरी बेचने पर कोई टैक्‍स नहीं देना होगा। पुरानी ज्‍वैलरी की तरह ही यह सिद्धांत पुरानी कार और टू-व्हीलर्स बेचने पर लागू होता है। मंत्रालय ने साफ किया कि जिस तरह पुरानी ज्‍वैलरी बेचने वाले इंडीविजुअल का बिजनेस नहीं है। उसी तरह पुरानी कार को बेचना भी बिजनेस इंडीविजुअल का बिजनेस नहीं हो सकता, इसलिए इन पर GST नहीं वसूला जा सकता।