Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

खुशखबरी: मोदी सरकार दे रही है 2-2 लाख रुपए, जानिए कैसे करें अप्लाई

Edited By: Anuj
Updated On : 2017-11-09 01:12:02
खुशखबरी:  मोदी सरकार दे रही है 2-2 लाख रुपए, जानिए कैसे करें अप्लाई
खुशखबरी: मोदी सरकार दे रही है 2-2 लाख रुपए, जानिए कैसे करें अप्लाई

नई दिल्ली। मोदी ने पीएम बनने से पहले काले धन को वापस लाने का वादा किया था और साथ ही साथ ये भी कहा था कि हर भारतवासी के बैंक खाते में 15-15 लाख रुपए आएगे, लेकिन अभी तक ऐसा कुछ नहीं हुआ। विपक्ष भी मोदी सरकार पर इस बात को लेकर जमकर तंज कसता है।

बता दें कि आज से एक साल पहले देश के पीएम नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 के नोट बंद करने की घोषणा की थी। नोटबंदी के दौरान लोगों को अपने पैसे बैंकों से निकाले में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा था। लेकिन, एक साल पूरा होने पर मोदी सरकार 2 लाख रुपये नोटबंदी पर कविता, निबंध लेखन, चित्रकारी, वीडियो और ऐसी विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित करने पर दे रही है। जिसके लिए आप 30 नवंबर तक अप्लाई करने के बाद इसका फायदा उठा सकते हैं।

Image result for 2000 note

प्रत्येक श्रेणी में विजेता को दो लाख रुपए, दूसरे स्थान पर रहने वाले को एक लाख रुपए और तीसरे स्थान पर रहने वाले को 50 हजार रुपए का ईनाम दिया जाएगा। इनके अलावा पांच लोगों को 25-25 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी। इस प्रतियोगिता का उद्देश्य लोगों को नोटबंदी के फायदों और आर्थिक नीतियों के प्रति जागरूक करना है।

केंद्र सरकार की वेबसाइट माईजीओवी डॉट इन पर जारी एक अधिसूचना के अनुसार इन प्रतियोगिताओं का मकसद लोगों को रचनात्मक तरीके से भ्रष्टाचार तथा कालाधन के खिलाफ मुहिम में जोड़ना है। उसमें कहा गया है कि इससे जागरूकता बढ़ाने और राष्ट्र के भविष्य की लड़ाई में आगे के कदम को प्रोत्साहित करने में और जागरूकता बढ़ाने में मदद मिलेगी।

इसमें कहा गया है कि आठ नवंबर 2016 की तिथि को देश के लिए स्वर्णाक्षरों में लिखा जाएगा। इसमें कहा गया है कि इस दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की थी। नोटबंदी काला धन और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में क्रांतिकारी कदम था। जन भागीदारी का अप्रत्याशित प्रदर्शन करते हुए 125 करोड़ लोग देश के उज्ज्वल भविष्य के लिए प्रधानमंत्री के पीछे कंधा से कंधा मिलाकर खड़े हो गए थे।

वेबसाइट पर निबंध प्रतियोगिता के लिए भ्रष्टाचार तथा कालाधन के खिलाफ रचनाएं मंगाई गई हैं। इसके साथ ही लोगों से इस लड़ाई को आगे और मजबूत करने संबंधी सुझाव भी मांगे गए हैं। वीडियो के लिए कहा गया है कि उनमें लड़ाई की उपलब्धियों और इसकी सामूहिक प्रकृति पर जोर दिया गया हो तथा यह लोगों को इससे जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करता हो। कविताएं लयबद्ध होनी चाहिए। रचनाएं भेजने की अंतिम तिथि 30 नवंबर है।


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार


x