उत्तराखंड में भी सरकार करे शराबबंदीः कांग्रेस नेत्री डॉ इंदिरा हृदयेश

Edited by: Editor Updated: 16 Apr 2017 | 06:07 PM
detail image

देहरादून। शराब की दुकानों की शिफ्टिंग को लेकर राज्यभर में हो रहे विरोध को देखते हुए कांग्रेस ने सरकार की घेराबंदी की है। नेता प्रतिपक्ष डॉ इंदिरा हृदयेश ने कहा कि सरकार को राज्य में शराबबंदी लागू करनी चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि एनएच-74 मुआवजा घपले में बड़ी मछलियों को बचाया जा रहा है।

यह भी पढ़े-उत्तराखंड में वंदे मातरम् पर सरकार और कांग्रेस के बीच टकराव

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में शनिवार को पत्रकारों से मुखातिब वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री डॉ इंदिरा हृदयेश ने सरकार की शराब नीति को विफल करार दिया। उन्होंने कहा कि दुकानों को ग्रामीण और शहरी आबादी क्षेत्रों में शिफ्ट किए जाने के विरोध में राज्यभर में महिलाएं आंदोलनरत हैं।

मुख्यमंत्री ने शराब की बिक्री को नियंत्रित करने की बात कही, लेकिन उस पर भी अमल नहीं हो रहा है। भ्रष्टाचार पर सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति पर सवाल खड़े करते हुए उन्होंने कहा कि एनएच-74 के मुआवजा घपले में बड़ी मछलियों को बचाने की कोशिश हो रही है। इतने बड़े घपले को बड़े अधिकारियों और राजनेताओं की मिलीभगत से अंजाम नहीं दिया जा सकता। इस मामले में अभी तक छोटे लोगों पर ही गाज गिरी है। इस घोटाले को निर्भीक होकर उजागर किया जाए, कांग्रेस इसमें सरकार का साथ देगी।

यह भी पढ़े- 2 दिवसीय दौरे पर रावत और भट्ट, करेंगे उत्तरकाशी व पिथौरागढ़ का दौरा

अतिथि शिक्षकों की तैनाती पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि विद्यालयों को शिक्षकविहीन नहीं रखा जाना चाहिए। नई सरकार आने के बाद विकास कार्यों में तेजी नहीं आ पाई है। कांग्रेस ने सरकार को छह माह की मोहलत दी है। इसके बाद सदन के भीतर और बाहर पार्टी सरकार को नहीं छोड़ने वाली। उन्होंने कहा कि वंदेमातरम राष्ट्रीय गीत है। यह विवाद का मुद्दा नहीं होना चाहिए।

नेता प्रतिपक्ष डॉ हृदयेश पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को लेकर अपने रुख से पीछे हटती दिखीं। उन्होंने दावा किया कि उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री को लेकर कोई अमर्यादित टिप्पणी नहीं की है। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने पार्टी में किसी तरह की गुटबाजी से इन्कार किया।

यह भी पढ़े- योगी से मिलेंगे रावत, परिसंपत्तियों के बंटवारे पर होगी चर्चा !

इससे पहले नेता प्रतिपक्ष डॉ इंदिरा हृदयेश और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने बंद कमरे में गुफ्तगू भी की। प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि वह तीन दिनी दौरे पर दिल्ली जा रहे हैं। वहां पार्टी के केंद्रीय नेताओं के साथ दिल्ली में नगर निगम चुनाव की रणनीति पर चर्चा होगी। इस मौके पर प्रदेश उपाध्यक्ष जोत सिंह बिष्ट और पूर्व महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा भी मौजूद थे।