शूटर दादी देती हैं महिलाओं को बंदूक चलाने की ट्रेनिंग

Edited by: Editor Updated: 11 Oct 2016 | 04:42 PM
detail image

जयपुर। कहते है बंदूक चलाना औरतों का काम नहीं है, लेकिन एक दादी ऐसी है जिनके आगे अच्छे-अच्छे शूटर फेल है। ये बुजुर्ग महिला रिवाल्वर चलाने में इतनी माहिर है कि आंखें मूद कर भी सही निशाना लगा सकती है। इसलिए इन्हें इंडिया की रिवॉल्वर दादी भी कहते हैं।

इनका नाम चंद्रो तोमर है जो राजस्थान की राजधानी जयपुर में रहती है। दादी ने अपनी गन चलाने की ट्रेनिंग 65 साल में ली। निशानेबाजी, से लेकर गाय का दूध निकालने तक का सारा काम वह अकेले ही कर लेतीं हैं। इसके साथ ही वह दूसरों को भी गन चलाने की ट्रेनिंग देती हैं।