केदारघाटी में अभी तक नहीं शुरू हो पाई हेली सेवाएं

Edited by: Shiwani_Singh Updated: 08 May 2017 | 03:17 PM
detail image

देहरादून। चारधाम यात्रा अब पूरी तरह से अपने चरम पर पहुंच चुकी है और चारों धामों में श्रद्धालुओं की भारी संख्या में भीड़ उमड़ रही है, लेकिन केदारघाटी में हैली सेवा को लेकर अब तक DGCA कोई फैसला नहीं दे पाई है। इसी वजह से हैली सेवाओं पर अब तक असमंजस कायम है।

हैलीकॉप्टरों की ज्यादा आवाजाही से वन्यजीवों और पर्यावरण पर प्रभाव को लेकर केदारनाथ के लिए हेली सेवा पर अब तक कोई फैसला नहीं आ पाया है। राज्य सरकार ने यात्रा सीजन के दौरान हेली सेवा प्रदान करने के लिए 14 कंपनियों का चयन कर महानिदेशक नागरिक उड्डयन कार्यालय यानी DGCA को सूची भेजी थी, लेकिन मानक पूरे नहीं करने के चलते इन कंपनियों को उड़ान की अनुमति नहीं दी गई।

अब डीजीसीए की टीम नए सिरे से मानकों के पालन का निरीक्षण करने पहुंची है। गौरतलब है कि केदारनाथ दर्शन के लिए यात्रियों को फाटा, गुप्तकाशी समेत कई स्थानों से हेलीकॉप्टर सेवा मुहैया कराई जाती है। इसके लिए राज्य सरकार हेली सेवा प्रदान करने वाली कंपनियों का चयन करती है।

इस साल के लिए आवेदन करने वाली 17 कंपनियों में से 14 का चयन कर राज्य सरकार ने मंजूरी के लिए कंपनियों की सूची महानिदेशक नागरिक उड्डयन कार्यालय(डीजीसीए) को भेजी थी, लेकिन अभी तक इन कंपनियों को उड़ान की अनुमति नहीं मिल पाई है।