मुसलमान होने के नाते मुझे फंसाया जा रहा है: जाकिर नाइक

Edited by: Ankur_maurya Updated: 18 Aug 2017 | 03:29 PM
detail image

नई दिल्ली। विवादों से घिरे इस्लामी उपदेशक जाकिर नाइक ने NIA पर आरोप लगाते हुए कहा कि आतंकवाद को बढ़ावा देने और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में उनके साथ मुसलमान होने के नाते ऐसा व्यवहार किया जा रहा है। NIA ने इंटरपोल से जाकिर नाइक को रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने को कहा था, जिसमें उन्होंने कहा कि वह भारत से भागकर सऊदी अरब में नागरिकता लेकर रह रहा है।

दरअसल जाकिर नाइक जुलाई 2016 में ढ़ाका में हुए आतंकी हमले के बाद NIA के राडार पर आया, जिसमें आतंकियों ने कहा था कि जाकिर नाइक के भाषण से प्रेरित होकर उन्होंने यह हमला किया है जिसके बाद नाइक 1 जुलाई 2016 को भारत से फरार हो गया था।

यह भी पढ़ें- लव जिहाद मामला: ISISI पर शक, SC ने NIA को दिए जांच के आदेश

NIA ने 11 मई को इंटरपोल और सीबीआई को पत्र लिखकर रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने के लिए कहा। इसके बाद नाइक ने इंटरपोल को अपने जवाब में कहा कि भारतीय जांच एजेंसी उन्हें केवल इसलिए निशाना बना रही हैं क्योंकि वह मुस्लिम है। उन्होंने दावा किया कि उनके भाषण जिहाद को बढ़ावा देने वाले नहीं हैं । उनके भाषण केवल शांति के लिए हैं।

नाइक ने भी अपनी याचिका को वापस करने के लिए "भारतीय जेलों की खराब स्थिति" और "मानवाधिकार उल्लंघन" का हवाला दिया उन्होंने दावा किया कि उन्हें भारतीय जेलों में यातनाओं का सामना करना पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें- टेरर फंडिंग मामला: जम्मू-कश्मीर में NIA ने 12 जगहों पर की छापेमारी

दरअसल, NIA ने रेड कॉर्नर नोटिस देने का मतलब है कि नाइक को एक अंतर्राष्ट्रीय भगोड़ा घोषित किया जाएगा और उसे दुनिया भर में किसी भी एजेंसी द्वारा गिरफ्तार किया जा सकता है। नाइक पर उनके उत्तेजक भाषण, आतंकवादियों को फंड देने और कई करोड़ रुपए की मनी लॉन्ड्रिंग करने का आरोप है।