Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

मंदिरों में दानपेटी में आई राशि का देना होगा ब्योरा

Edited By: Editor
Updated On : 2016-11-12 13:57:51
मंदिरों में दानपेटी में आई राशि का देना होगा ब्योरा
मंदिरों में दानपेटी में आई राशि का देना होगा ब्योरा

नई दिल्ली। नोट बंदी में सरकार की ओर से लगाई गई पाबंदियों में मंदिरों की दान पेटी भले ही न शामिल हो। मगर मंदिर के नाम पर ट्रस्टियों का खेल नहीं चलेगा। वित्त मंत्रालय ने कहा कि श्रद्धालुओं द्वारा मंदिर की दान पेटी में दान की गई रकम पर कोई टैक्स नहीं देना होगा, लेकिन ट्रस्टियों को मंदिर में आने वाली सभी धनराशि का ब्योरा रखना होगा।

रेवेन्यू सेक्रेटरी का कहना है कि 'मंदिरों के लिए हमने ये छूट दी है कि हम उनसे उनकी दान पेटी में आने वाली राशि के लिए सवाल-जवाब नहीं करेंगे। इसकी कोई सीमा भी तय नहीं की गई है पर मंदिर के ट्रस्टियों को इसका पूरा रिकॉर्ड रखना होगा कि कितना पैसा कहां से आया।

साथ ही ट्रस्टियों को इसमें किसी प्रकार की छूट नहीं मिलेगी। मंदिरों में कई ट्रस्ट होते हैं। पर चैरिटेबल ट्रस्ट के लिए, ये नियम बनाया गया है कि अगर कोई दान कैश में देता है, तो उसका पूरा नाम और पता सरकार को दिखाना होगा।

सरकार के नोटबंदी फ़ैसले के बाद कई मंदिरों ने ये नोटिस जारी कर दिया कि अब वो दान में 500 और 1000 के नोट नहीं स्वीकार करेंगे। कई मंदिरों ने तो इस समस्या से निजात पाने के लिए क्रेडिट कार्ड मशीन लगा दी हैं। इस सूची में सबसे पहला नाम आ रहा है तिरुपति मंदिर का।

मंदिर समिति ने पहले श्रद्धालुओं से अनुरोध किया कि वो बैन किए गए नोट दान पेटी में न डालें। फिर दान के लिए क्रेडिटकार्ड, डेबिट कार्ड मशीन लगवा दी ताकि आने वाले लोगों को भोजन कराने में मंदिर को रुकावट न हो। श्री कृष्णा जन्म भूमि, वृंदावन और बांके बिहारी मंदिर के ट्रस्टों ने भी पोस्टर लगा कर भक्तों से अनुरोध किया है कि वो दानपेटी में बैन किए हुए नोट न डालें।


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार


x