आईएमएफ ने भी किया भारत सरकार के करेंसी बंद करने का समर्थन

Edited by: Editor Updated: 11 Nov 2016 | 01:38 PM
detail image

वाशिंगटन। भारत सरकार द्वारा 500-1000 के पुराने नोटों को प्रचलन से बाहर करने के फैसले को सही ठहराते हुए आईएमएफ (अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष) ने इस का समर्थन किया। आईएमएफ ने कहा कि भारत सरकार द्वारा उठाया गया यह कदम भ्रष्टाचार से लड़ने में सही साबित होगा है।

हालांकि, आईएमएफ ने कहा है कि बदलाव के इस काम को सोच विचार कर और बिना किसी अफरा तफरी के किया जाना चाहिए।

आईएमएफ प्रवक्ता गैरी राइस ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘हम भारत में अवैध धन के प्रवाह और भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए उठाए गए कदमों का समर्थन करते हैं।

हालांकि, भारतीय अर्थव्यवस्था में रोजमर्रा के लेनदेन में नकदी की भारी भूमिका को देखते हुए मुद्रा में बदलाव के काम को सोच समझकर किया जाना चाहिए ताकि अफरा तफरी कम से कम हो’।

आईएमएफ ने भारत सरकार के 500 और 1,000 रुपए के नोटों को चलन से वापस लेने के फैसले के बारे में पूछा गया था। इसका जबाव देते हुए गैरी ने कहा कि कई देश यह कदम उठाते रहे हैं, हालांकि यह कोई असाधारण कदम नहीं है, लेकिन इस काम को व्यवस्थित तरीके से करना चाहिए।