अगर वाल्मीकि रामायण नहीं लिखते तो राम को कोई नहीं जानताः अमित शाह

Edited by: Editor Updated: 16 Oct 2016 | 02:19 PM
detail image

नई दिल्ली। यूपी चुनाव को देखते हुए बीजेपी ने अपने सारे दांव खेलने शुरु कर दिए है। मायावती के दलित वोट बैंक में सेंध लगाने के लिए बीजेपी लगातार दलित कार्ड चल रही है। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने वाल्मीकि जयंती के मौके पर कहा कि वाल्मीकि की लिखी रामायण विश्व के सामने भारतीय संस्कृति को बताने वाला अग्रदूत ग्रंथ है।

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए अमित शाह ने कहा कि एक आदर्श भाई कैसा हो, आदर्श पत्नी कैसी हो, या आदर्श सेवक कैसा हो, इन सबका वर्णन महर्षि वाल्मीकि ने रामायण में किया है। यदि वाल्मीकि रामायण नहीं लिखते तो शायद आज भगवान राम को विश्व में कोई नहीं जानता। संत समाज ने बिना वाल्मीकि की जाति पूछे उनके ज्ञान और गुणों की पूजा की।

अमित शाह ने मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि मोदी सरकार की शुरुआत की 5 योजनाएं दलित, गरीब, शोषित और पिछड़ों के कल्याण के लिए है। मोदी सरकार ने हमेशा दलितों व पिछड़ों को साथ लेकर चलने की कोशिश की है।