1962 के जैसा ही है भारत, हमारी चेतावनी नहीं मानी तो होगा युद्ध: चीन

Edited by: Ankur_maurya Updated: 08 Aug 2017 | 06:13 PM
detail image

नई दिल्ली। डोकलाम को लेकर भारत और चीन को लेकर चल रहे विवाद में चीन ने एक बार फिर भारत को धमकी देता दिख रहा है। चीन एक सरकारी अखबार के मुताबिक 1962 में पूर्व प्रधानमंत्री नेहरू के समय चीन भारत को कई बार समझाया था लेकिन उनके ना मानने पर युद्ध ही विकल्प बचा था।

चीनी अखबार के मुताबिक भारत अगर चीन की चेतवानियों को नजरआंदाज करता रहा तो निश्चित ही युद्ध होगा। आपको बता दें कि हाल ही में संसद सत्र के दौरान विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने डोकलाम विवाद को लेकर चीन पर जमकर निशाना साधा था, जिसके बाद चीन ने उन्हें झूठा बताया था।

यह भी पढ़ें- भारत को युद्ध की तरफ धकेल रही है मोदी सरकार: चीनी अखबार

चीनी अखबार के अनुसार भारत आज भी 1962 जैसा ही है। भारत अभी भी विपरीत हालात से निपटने के लिए तैयार नहीं है और अपनी जनता को सब कुछ ठीक होने का भरोसा दे रही है।

अख़बार में कहा गया है कि चीन भी युद्ध नहीं बल्कि शांति चाहता है। साथ मिलकर आगे बढ़ना चाहता है। लेकिन अगर भारतीय सेना लगातार चीन की धरती पर मंडराएगी तो स्थितियां अलग हो सकती हैं। संपादकीय में आगे कहा गया है कि अगर भारत चालाकी करेगा तो युद्ध को रोकना मुश्किल है और भारत लगातार चीन की चेतावनी को अनसुना करता रहा तो युद्ध ही एक मात्र विकल्प बचेगा। 1962 में भी नेहरू को लगा था कि चीन हमला नहीं करेगा लेकिन भारत अब भी उसी तरह की अनुभवहीनता दिखा रहा है।