भारत का जीडीपी ग्रोथ 7.9 रहेगाः स्टैंडर्ड एंड पुअर्स

Edited by: Editor Updated: 02 Nov 2016 | 04:46 PM
detail image

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी स्टैंडर्ड एंड पुअर्स ने भारत की क्रेडिट रेटिंग ‘BBB-/A-3’ बरकरार रखी है, लेकिन रेटिंग बढ़ने की उम्मीद को झटका लगा है। इनका कहा है कि भारत की रेटिंग इस साल और अगले साल तक बदल नहीं सकती है। इसने 2016 में भारत की जीडीपी ग्रोथ 7.9 रहने का अनुमान जताया गया है।

एजेंसी के मुताबिक 2016 में चालू घाटा 2015 के 2.1 फीसदी के मुकाबले घटकर 1.4 फीसदी रहने का अनुमान है और इसने उम्मीद जताई है कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया 5 फीसदी महंगाई दर के लक्ष्य को हासिल कर लेगा। एस एंड पी ने जीडीपी ग्रोथ से निराशा होने पर भारत की रेटिंग घटने की आशंका जताई है।

रेटिंग एजेंसी ने यह भी कहा है कि अगर मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी अपने लक्ष्यों को पूरा नहीं करती है तो रेटिंग में और भी गिरावट हो सकती है। विदेशी निवेश में गिरावट से रेटिंग घटने का खतरा बढ़ सकता है। हालांकि एस ऐंड पी ने यह भी कहा है कि अगर सरकारी कर्ज जीडीपी का 60 फीसदी से कम होने पर रेटिंग बढ़ सकती है।

यह भारत के लिए थोड़ी राहत भरी खबर है क्योंकि एशिया के अन्य मार्केटों में गिरावट का असर भारतीय मार्केट पर भी देखने को मिला। बुधवार को मार्केट खुलते ही सेंसेक्स में 300 पॉइंट्स की गिरावट हो गई और निफ्टी 8550 के नीचे चला गया। डॉलर के मुकाबले रुपया भी 8 पैसे टूट गया। ऐसे समय में एस ऐंड पी द्वारा भारत का आउटलुक स्टेबल रखना सुखद है।