UN को भारत का करारा जवाब, कहा-रोहिंग्या को अपनी शर्तों पर देंगे शरण

Edited by: PoojaDevi Updated: 13 Sep 2017 | 11:16 AM
detail image

जेनेवा। रोहिंग्या मुसलमानों को शरण देने के मामले पर संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार प्रमुख के दिए गए तीखे बयान पर भारत की ओर से तीखा जवाब दिया गया है। दरअसल, संयुक्त राष्ट्र ने गौरी लंकेश की मौत पर और कश्मीर हालात पर भारत पर तीखी टिप्पणी की थी।

संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख की टिप्पणी पर करारा जवाब देते हुए संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि राजीव के चंदर ने कहा कि भारत सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है और वो मानवाधिकारों के प्रति सजग है। जहां तक बात है रोहिंग्या मुसलमानों की तो वो सुरक्षा व्यवस्था के लिए खतरा बन सकते हैं। इसलिए उन्हें शरण देनी है या नहीं, ये भारत स्वयं तय करेगा।

यह भी पढ़ें-2 लाख 70 हजार पहुंची रोहिंग्या मुस्लिमों की तादाद: संयुक्त राष्ट्र

साथ ही उन्होंने कहा कि किसी एक घटना को लेकर पूरी व्यवस्था पर सवाल नहीं उठाने चाहिए। ये भारत की छवि पर धब्बा है। बता दें कि संयुक्त राष्ट्र के राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख जैड रा-अद अल हुसैन ने मानवाधिकार काउंसिल के 36वें सत्र में धार्मिक असहिष्णुता और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को मिल रही धमकियों के लिए भारत पर तीखी टिप्पणी की थी।