रेल हादसाः मृतकों की संख्या हुई 145, अब भी निकल रहे हैं शव

Edited by: Editor Updated: 21 Nov 2016 | 03:08 PM
detail image

कानपुर। उत्तर प्रदेश में कानपुर में हादसे का शिकार हुई इंदौर-पटना एक्सप्रेस के 30 घंटे बीत जाने के बाद भी राहत काम पूरा नहीं हो पाया है। अभी भी बोगियों से शव निकाले जा रहे हैं। इस भीषण हादसे में मरने वालों की संख्या अब तक 145 पहुंच गई है, जबकि 200 लोग जख्मी हैं, जिन्हें नजदीकी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

आपको बता दें कि इंदौर से पटना जा रही इंदौर-राजेन्द्र नगर एक्सप्रेस रविवार को अल सुबह तीन बजे तब दुर्घटनाग्रस्त हो गई जब लोग गहरी नींद में थे।

यह भी पढ़ें- कानपुर रेल हादसाः मृतक परिजनों को यूपी 5 लाख व केंद्र देगी 3.5 लाख का मुआवजा

ताज़ा जानकारी के मुताबिक एनडीआरएफ की टीम ने बताया कि अभी भी लोग ट्रेन के अंदर फंसे हुए हैं जिन्हें बाहर निकालने का काम किया जा रहा है। कानपुर के पुखरायां में रात भर बचाव और राहत अभियान चला। हालांकि रात में किसी भी यात्री के जिंदा निकलने की खबर नहीं है।

यह भी पढ़ें- कानपुर ट्रेन हादसाः रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि हादसे की फोरेंसिक जांच होगी

आपको बता दें कि ये हादसा इतना भयानक था कि ट्रेन के 14 डिब्बे पटरी से उतरे गए। कई डिब्बे एक दूसरे पर चढ़ गए। उनके परखच्चे उड़ गए। इस हादसे में एसी के 5, स्लीपर के 6, जनरल के दो और लगैज के एक डब्बे को नुकसान पहुंचा है। सबसे ज्यादा नुकसान S-2 बोगी को हुआ है।