अंकित की शोकसभा को बीच में ही छोड़कर गए केजरीवाल, पिता बोले- 'गेम मत खेलो'

Edited by: Shivani Updated: 13 Feb 2018 | 02:47 PM
detail image

नई दिल्ली। अंकित के परिजनों ने सोमवार को उसकी तेरहवीं पर एक शोकसभा का आयोजन किया। इसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी शामिल हुए थे, लेकिन वह कार्यक्रम को बीच में ही छोड़कर चले गए। अंकित के पिता उन्हें पीछे से पुकारते रहे, लकिन वह नहीं रुके, जिसके बाद पिता ने कहा कि मेरे साथ गेम मत खेलो।

आप से निष्कासित नेता कपिल मिश्रा ने इसका एक वीडियो शेयर किया है। इसमें कपिल मिश्रा ने लिखा कि, 'दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल अंकित सक्सेना की शोक सभा में शामिल होने और उनके परिवार से मिलने उनके घर गए थे, लेकिन वहां उन्होंने जो व्यवहार किया वो बहुत आपत्तिजनक है।'

अंकित की तेरहवीं पर शोकसभा आयोजित की गई थी। इस शोकसभा में दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री समेत कई प्रमुख दलों के नेतागण शामिल हुए। केजरीवाल के सामने लोगों ने 1 करोड़ मुआवजे की मांग की। भारी संख्या में जुटे लोगों ने दिल्ली सरकार की उस रकम का विरोध किया, जो उन्होंने अंकित के परिजनों के लिए घोषित की थी।

मुआवजे की बात पर केजरीवाल शोकसभा को बीच में ही छोड़कर चले गए। इसके बाद विपक्ष और विरोधियों ने केजरीवाल पर जमकर निशाना साधा। कपिल ने कहा कि अंकित के परिजनों ने जब कहा की जीवनयापन मुश्किल हो रहा है आप एक सहायता राशि की घोषणा कीजिए तो उनके बोलते हुए ही केजरीवाल सभा से उठ के चल दिए।

उन्होंने कहा कि अंकित के पिता पीछे से उन्हें पुकारते रहे और अंत में उन्हें कहना पड़ा कि मेरे साथ गेम मत खेलो। ये बहुत अपमानजनक है, क्या मुख्यमंत्री वहां उनका अपमान करने गए थे! शोक सभा से ऐसे नहीँ जाया जाता।

बता दें कि अंकित दूसरे संप्रदाय की लड़की से प्यार करता था। इसी के चलते लड़की के परिवारवालों ने गला रेतकर अंकित की हत्या कर दी थी। इस घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था। इसके बाद सीएम केजरीवाल ने अंकित के परिजनों को मुआवजे का ऐलान किया था, लेकिन उस रकम का काफी विरोध हुआ था। अब लोगों ने केजरीवाल से 1 करोड़ के मुआवजे की मांग की है।