जानिए कैसे 500 किलोमीटर का सफर तय कर वापस घर लौटी ये बाघिन!

Edited by: Shiwani_Singh Updated: 12 Oct 2017 | 01:58 PM
detail image

नई दिल्ली। नागपुर से एक हैरान कर देने वाली ख़बर सामने आई है। दरअसल ये ख़बर एक बाघिन की है। इस बाघिन का एक शिकारी लगातार पीछा करता रहा। शिकारी को सख्त आदेश दिया गया था कि यदि बाघिन हिंसक हो जाए तो उसे उसी वक्त गोली मार दिया जाए। इसके बावजूद वह 500 किलोमीटर का सफर पूरा कर 'घर' लौट आई।

बता दें कि बाघिन ने अपने सफर में दो इंसानों के साथ एक-दो मवेशियों का शिकार भी किया। ऐसे में उस पर जान का खतरा मंडरा रहा था। अब पशु प्रेमियों की तरफ से बॉम्बे हाई कोर्ट में बाघिन को मारने के खिलाफ याचिका दायर की गई है।

गुरुवार को कोर्ट का फैसला आने की उम्मीद जताई जा रही है। बहस में कहा गया कि बाघिन ने इंसानों को मारा है। इसके बाद या तो उसे कैद में रखा जाए या फिर उसे गोली मार दी जाए। दरअसल इस बाघिन को 10 जुलाई को महाराष्ट्र में चंद्रुपर जिले के दक्षिणी ब्रह्मपुरी इलाके से पकड़ा गया था और उसे 29 जुलाई को हिंगानी जिले स्थित बोर टाइगर रिजर्व लाया गया, लेकिन वह रह नहीं पाई।

जैसे ही बाघिन का बोर टाइगर रिजर्व से निकलने का पता चला, फॉरेस्टर्स की एक टीम उसके पीछे लग गई। इस टीम में एक कुशल शिकारी भी था। बाघिन के शरीर पर एक रेडियो कॉलर लगा था जो शिकारी को लगातार बाघिन का लोकेशन दे रहा था।

बाघिन के लिए 500 किलोमीटर का सफर बेहद दुर्गम था। यह उसके करीब 76 दिनों में पूरा किया। इस रास्ते में कई मैदान, जंगल, पहाड़ियां, नदी-नाले, ऊंची घासों के बीच बने कई दलदल, तमाम सड़कें पड़ती हैं। हैरानी की बात यह है कि रास्ते में व्यस्त 4 लेन का एनएच 6 दो बार पार करना पड़ता है। बाघिन यह कठिन रास्ते पार करके ब्रह्मपुरी लौट आई।