जानिए, क्यों भारतीय टीम की कप्तान को करना पड़ा था जनरल बोगी में सफर

Edited by: Anuj Updated: 11 Dec 2017 | 03:33 AM
detail image

नई दिल्ली। भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने अपने क्रिकेट के शुरुआती संघर्षों के दिनों को याद करते हुए एक खुलासा किया। भारतीय महिला कप्तान ने बताया कि भारतीय खिलाड़ी के रूप में उन्हें भी ट्रेन की जनरल बोगी में सफर करना पड़ा था।

मिताली राज ने मुंबई में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि मेरी यात्रा के दौरान मुझे काफी संघर्ष करना पड़ा। अब हम बीसीसीआई के अंतर्गत हैं, लेकिन उस समय (जब महिला खिलाड़ी बीसीसीआई के अंतर्गत नहीं थी) हमें खिलाड़ी के रूप में मूलभूत सुविधाएं भी नहीं मिलती थीं। भारतीय क्रिकेटर के रूप में मैंने हैदराबाद से दिल्ली की यात्रा रेल से अनारक्षित सीट पर की और पुरुषों के साथ ऐसा कभी नहीं हुआ।

वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली मिताली ने कहा कि इन मुश्किलों ने हमें मजबूत बनाया। महिला के रूप में हमें शुरुआती चरण में इतनी अधिक चुनौतियों का सामना करना पड़ा, इसके बाद जब हम परिपक्व हुए और चुनौतियों को स्वीकार किया, इसलिए हम मानसिक रूप से मजबूत हुए।

बता दें कि मिताली ने वनडे और टेस्ट क्रिकेट में 50 से ज्यादा के औसत से बल्लेबाजी की है। वहीं, टी20 क्रिकेट में उनका औसत 40 का रहा है। इसके साथ ही महिला वनडे क्रिकेट के इतिहास में मिताली राज 6000 रन बनाने वाली पहली महिला क्रिकेटर हैं। उन्होंने सिर्फ 183 मैचों में यह कारनामा किया है।